You are here

अपना दल में एक और बिखराव ,अपना दल बलिहारी का हुआ उदय

लखनऊ.अपना दल में मॉ बेटी की लड़ाई के बीच सुलह समझौते की क़वायद तेज़ हो रही हैं,विगत विधान सभा चुनाव में अपना दल के दोनो गुट अलग अलग चुनाव लड़ कर हार -जीत का फ़ैसला कर चुके है .

इसी बीच अपना दल के दोनो घटकों से कुपित डॉक्टर सोंने लाल पटेल के साथियों ने आज लखनऊ के गांधी भवन में एक नए दल की नीव डालने हेतु सम्मेलन कर अपना दल के दोनो घटकों पर गम्भीर आरोप लगाया .

स्वर्गीय सोनेलाल पटेल के क़रीबी धर्मराज पटेल ने अनुप्रिया पटेल पर इस विधान सभा चुनाव में करोड़ों में टिकट बेचने का आरोप लगाते हुए दल के समर्पित साथियों की अनदेखी का आरोप लगाया .

अपना दल के पूर्व संघठन प्रभारी शिव प्रसाद पटेल ने आरोप लगाया कि अपना दल ने लाखों कार्यकर्ताओ के मान, सम्मान ,स्वभिमान को गिरवी रख अपनी महत्वाँकाँछा की पूर्ति हेतु उस दल का समर्थन कर रही है जिस दल के इशारे पर हमारे नेता सोनेलाल पटेल की हड्डियाँ तोड़ी गई थी .
केंद्रीय मंत्री बनने के बाद से ही अनुप्रिया पटेल ने समाज को सिर्फ़ वोट बैंक के रूप में प्रयोग कर रही है ,कार्य कर्ताओ की उपेक्षा कर परिवार वाद को बढ़ावा दे रही है .आज के रजनैतिक हालात में अपना दल के कार्यकर्ता अपने को असहाय महसूस कर रहे है ,दलबदलू और मौक़ा परस्त अपना दल के नीति निर्धारक बन चुके है ,जिस कारण आज अपने सम्मान को ज़िंदा रखने और कमेरा समाज को उनका हक़ हकूक दिलाने हेतु नए दल की आवश्यकता आ पड़ी है .

आज गांधी भवन प्रेक्षागृह में आयोजित इस सम्मेलन में अपना दल बलिहरी बनाने का एलान हुआ जिसके अध्यक्ष धर्मराज पटेल सर्वसम्मति से मनोनीत हुए.

इस सम्मेलन के मुख्यअथिथि काशी विद्यापीठ के पूर्व कुलपति प्रो अवधराम थे ,

इसे भी पढ़े -