You are here

मोदी सरकार : क़िसानो को धान बिक्री का पैसा भी मिलना मुश्किल ,किसान हित की बात वईमानी


लखनऊ .किसान हितो पर लम्बी लम्बी बातों का दंभ भरने वाली भाजपा सरकार में अब हर समाज के किसान भी अपने साथ भाजपा की ठगी का रोना रो रहे है ,क़िसानो के उपज मूल्य में बढ़ोतरी की बात करना बेमानी होगी जब सरकार के हाथो किसानो के बिके माल की धनराशि मिलना भी मुश्किल हो.

योगीराज : नाबालिक से हुआ बलात्कार का प्रयास,पुलिस ने पीड़िता को थाने से भगाया

ताज़ा मामला इलाहाबाद के बारा थाना क्षेत्र  से है .यहाँ ओसा गांव निवासी कुर्मी किसान भारत सिंह ने तहसील दिवस में शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया है कि दिसम्बर 2016 में भारतीय खाद्य निगम लिमिटेड की धान खरीद केंद्र जसरा में 70 कुन्टल धान बेचा था . जिसकी कीमत 1470 रूपये प्रति कु. की दर से 102900 रूपये हुए थे ।. आज तक हमें सरकार ने पैसा नही दिया जबकि किसान ने खाद्य निगम को भुगतान देने हेतु बार बार अनुरोध किया है .तहसील दिवस में किसान दवरा कि गई शिकायत के बाद तहसील प्रभारी द्वारा क्षेत्राधिकारी बारा को जांच कर कारवाही के लिए लिखा गया है .

यूजीसी के इस फैसले से बदल जाएगा भारत में उच्च शिक्षा का परिदृश्य

अब देखना होगा की तहसील दिवस के प्रार्थना पत्र पर कार्यवाही होकर किसान को पैसा मिलता है अथवाँ किसान हितो पर जुमलेबाज़ी करने वाली सरकार किसान को भुखमरी हेतु छोड़ देती है .

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़े -

One Thought to “मोदी सरकार : क़िसानो को धान बिक्री का पैसा भी मिलना मुश्किल ,किसान हित की बात वईमानी”

Leave a Comment