You are here

अलविदा 2016: साल की मशहूर महिलाएं जो बनीं सुर्खियां




2016ये वो साल था जिसने साल के पहले दिन से आखिरी हफ्तों तक हमें हर दिन एक ऐसी महिला दी जिन्होंने नए कीर्तिमान बनाए.

जाता हुआ साल अपने साथ बहुत कुछ लिए जा रहा है, लेकिन कुछ ऐसी यादें भी देता जा रहा है जो इन यादों को खुशनुमा बनाने का माद्दा रखता है. ये वो साल था जिसने साल के पहले दिन से आखिरी हफ्तों तक हमें हर दिन एक ऐसी महिला दी जिन्होंने नए कीर्तिमान बनाए.

एक नजर साल 2016 की कुछ खास महिला अचीवर्स पर..

पीवी सिंधु, बैंडमिंटन खिलाड़ी

5 जुलाई 1995 को पीवी सिंधु यानि पुसरला वेंकट सिंधु का जन्म सिंधु पूर्व बॉलीवॉल खिलाड़ी पी.वी. रमण और पी. विजया के घर हुई थी.2016 के रियो ओलंपिक में सिंधु ने महिला एक

ल बैडमिंटन में रजत पदक जीतकर ऐसा कर पाने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गईं. उनका फाइनल मुकाबला विश्व की प्रथम वरीयता प्राप्त खिलाड़ी स्पेन की कैरोलिना मैरिन से हुआ था, लेकिन कड़े मुकाबले के बाद उन्हें रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा. ओलंपिक में जीत हासिल करने से पहले सिंधु भारत की नेशनल चैंपियन भी रह चुकी थीं.सिंधु पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद की विद्यार्थी हैं. उन्होंने नवंबर 2016 में चीन ओपन खिताब भी अपने नाम कर लिया है. गूगल की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया, ‘महिला एकल बैडमिंटन के सेमीफाइनल में विश्व की नंबर छह खिलाड़ी नोज़ोमी ओकुहारा को हराने के बाद सिंधु सबसे अधिक खोजे जाने वाली भारतीय खिलाड़ी हैं.

साक्षी मलिक, कुश्ती

साक्षी मलिक का जन्म 3 सिंतबर 1992 को हरियाणा के रोहतक जिले के मोखरा खास गांव में सुदेश मलिक और सुखबीर मलिक के घर हुआ था. साक्षी का पालन पोषण उनके दादा-दादी के घर में हुआ. साक्षी के दादा भी पहलवान थे. साक्षी ने 12 साल की उम्र में कुश्ती की फॉर्मल ट्रेनिंग रोहतक के छोटुराम स्टेडियम में लेनी शुरु की. उसे पहली सफलता साल 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स में रजत पदक के साथ मिला, 2015 में दोहा में आयोजित एशियन चैंपियनशिप में 60 किलोग्राम के वर्ग में खेलते हुए उन्हें कांस्य पदक मिला.

जिसके बाद वे ओलंपिक की तैयारियों लग गईं और इसी साल रियो ओलंपिक के 58 किलोग्राम वर्ग में उन्होंने कांस्य पदक जीता, जिसके बाद गूगल सर्च में पी वी सिंधु के बाद दूसरी सबसे ज्यादा खोजी जाने वाली खिलाड़ी हैं.

दीपा कर्माकर, जिमनास्ट

9 अगस्त 1993 को त्रिपुरा के अगरतल्ला में जन्मीं दीपा कर्माकर एक एक्रोबैट यानि कलात्मक जिमनास्ट हैं. दीपा ने छह साल की उम्र से अपने कोच विशेश्वर नंदी की देखरेख में जिमनास्ट की प्रैक्टिस करनी शुरु कर दी थी. शुरुआती दिनों में दीपा को फ्लैट फीट की समस्या थी लेकिन बाद में वे उससे उबर पायीं. 2007 से लेकर अब तक दीपा ने राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में कुल 77 मेडल जीते हैं जिनमें से 67 गोल्ड मेडल हैं.

रियो ओलंपिक में उन्होंने फाइनल में जगह बनायी और 0.150 के मामूली अंतर से ब्रॉन्ज़ मेडल से चूक गईं और चौथे स्थान पर रहीं. दीपा ने बहुत ही मुश्किल माने जाने वाले प्रो दुनोवा वॉल्ट का प्रदर्शन किया, जिसे पूरी दुनिया में सिर्फ पांच जिमनास्ट ही कर पाते हैं. दीपा के शानदार प्रदर्शन के बाद क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर और अभिनव बिंद्रा ने कहा कि – दीपा आप हमारी हीरो हैं.

स्मृति मंधाना, क्रिकेटर

स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई में स्मिता और पेशे से केमिकल डिस्ट्रीब्यूटर श्रीनिवास मंधाना के घर हुआ. उनके जन्म के बाद उनका परिवार महाराष्ट्र के सांगली में शिफ्ट हो गया. 9 साल की उम्र में स्मृति का सेलेक्शन महाराष्ट्र की अंडर 15 टीम और 11साल की उम्र में अंडर-19 टीम में हो गया था. 2013 में वो वन-डे मैच में दोहरा शतक लगाने वालीं पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनीं,  सितंबर 2016 में मंधाना को वुमन बिग बैश लीग के लिए ब्रिसबेन हीट एक साल का अनुबंध दिया. बिग बैश लीग के लिए शामिल की जाने वाली वो हरमनप्रीत कौर के साथ पहली भारतीय क्रिकेटर बनीं.

2016 के ऑस्ट्रेलिया दौर के दौरान मंधाना ने होवार्ट के ओवल में 109 गेंदों पर 103 तीन रन बनाए थे. इसी साल 14 दिसंबर को इंटरनेश्नल क्रिकेट काउंसिल ने दुबई में आयोजित एक प्रेस कॉफ्रेंस में स्मृति को आईसीसी 2016 की वुमन टीम में शामिल किया. इस टीम में शामिल होने वाली स्मृति पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं.

टीना डाबी, आईएएस टॉपर

टीना डाबी साल 2015 की आईएएस टॉपर हैं जिसकी घोषणा साल 2016 की शुरुआत में हुआ था. वे यूपीएससी द्वारा चुने गए 1078 चुने गए प्रतिभागियों में पहले नंबर पर रहीं. उन्हें हरियाणा कैडर में पोस्टिंग के लिए चुना गया है. टीना का जन्म भोपाल में हुआ था और परवरिश दिल्ली में. उन्होंने दिल्ली के जीजस एंड मेरी स्कूल से स्कूलिंग और लेडी श्रीराम कॉलेज से ग्रैजुएशन किया है. टीना के माता पिता, हिमानी और जसवंत डाबी पेशे से इंजीनियर है. टीना अपने कॉलेज की भी टॉपर रही हैं और आईएएस के लिए चुनी गईं सबसे कम उम्र की महिला हैं.

अगर वे लगातार आईएएस की नौकरी करती रहती हैं तो एक दिन भारत के प्रधानमंत्री की कैबिनेट सेक्रेटरी भी बन सकती हैं. नवंबर महीने में ही वो दोबारा चर्चा में आयीं जब उन्होंने फेसबुक के जरिये बताया कि वे यूपीएससी 2016 की परीक्षा में दूसरे नंबर पर टॉपर रहे कश्मीर के आमिर अथर खान के साथ रिश्ते में हैं और दोनों जल्द ही सगाई करने वाले हैं.


टीना अंबानी, बिजनेस लीडर

नीता अंबानी का जन्म 1 नवंबर 1963 को हुआ था. वे रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक और चेयरपर्सन हैं. वे रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की नॉन-एक्जयूकेटिव निदेशक भी रह चुकी हैं.

वे रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी की पत्नी हैं. वे एक नामी आर्ट कलेक्टर और आईपीएल की टीम मुंबई इंडियंस की मालकिन भी हैं. वे इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी की सदस्य बनने वाली पहली भारतीय महिला हैं.

अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स मैगज़ीन ने उन्हें साल 2016 की सबसे ज्यादा प्रभावशाली महिला बिज़नेस लीडर का खिताब दिया है. इसके अलावा हिंदी पत्रिका  इंडिया टुडे ने उन्हें 50 सबसे ज्यादा ताकतवर और महान भारतीयों की लिस्ट में रखा है.

अरुंधती भट्टाचार्या, एसबीआई चेयरपर्सन

अरुंधती भट्टाचार्या एक भारतीय बैंकर हैं और इस समय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की चेयरपर्सन हैं. इस पद पर पहुंचने वाली वो पहली महिला हैं. अरुंधती भट्टाचार्य जन्म 18 मार्च 1956 को कोलकाता में प्रोद्युत और कल्याणी चटर्जी के घर हुआ. उनका बचपन भिलाई में और स्कूली शिक्षा झारखंड के बोकारो में हुई. उन्होंने कलकत्ता के लेडी ब्राबोर्न कॉलेज और जादवपुर यूनिवर्सिटी से अंग्रेजी साहित्य में उच्च शिक्षा हासिल की.

2016 में उन्हें अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स ने दुनिया की 25 प्रभावशाली महिलों में शुमार किया था. वे इस लिस्ट में नीता अंबानी के बाद दूसरे पायदान पर थीं. इसी साल फॉरेन पॉलिसी मैगज़ीन ने उन्हें दुनिया के सौ ग्लोबल थिंकर की लिस्ट में शामिल किया.

प्रियंका चोपड़ा, अभिनेत्री

18 जुलाई 1982 को जन्मीं प्रियंका चोपड़ा एक भारतीय एक्ट्रेस, सिंगर, प्रोड्यूसर, ब्यूटी पैजेंट विनर और फिलैंथ्रोफिस्ट हैं. वे इस समय भारत की सबस ज्यादा मेहनताना पाने वाली अभिनेत्रियों  में से एक है. उन्होंने बरेली, लखनऊ और अमेरिका में पढ़ाई लिखाई की है.

साल 2000 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के बाद उन्होंने हिंदी फिल्मों में काम करना शुरु किया और कई अवार्ड जीते. उन्हें फिल्म फैशन में उनके अभिनय के राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया. साल 2015 में प्रियंका ने उस समय चर्चा में छा गईं जब वे अमेरिकन डेली सोप क्वांटिको में लीड किरदार के लिए चुनी गईं.

इसके बाद इसी साल की शुरुआत में उन्हें हॉलीवुड फिल्म बे-वॉच के लिए मुख्य नेगेटिव किरदार के लिए चुना गया. इसी साल वे ऑस्कर्स, पीपल्स च्वाइस और एमी अवार्ड्स सेरेमनी में शामिल होने वाली पहली भारतीय कलाकार बनीं.


दीपिका पादुकोण, अभिनेत्री

दीपिका पादुकोण का जन्म 5 जनवरी 1986 को कोपनहेगन में हुआ और परवरिश बैंगलोर में. वे प्रसिद्ध बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण की बेटी हैं. उनकी मां का नाम उज्जला पादुकोण है. दीपिका दुनियाभर में सबसे ज्यादा मेहनताना पाने वाली अभिनेत्री में से एक हैं. भारत में भी वो किसी फिल्म के लिए मेल लीड से ज्यादा सैलरी पाने वाली कलाकार हैं. उन्हें फिल्म पीकू में अमिताभ बच्चन से ज्यादा पैसे दिए गए थे.

वे इस समय हॉलीवुड फिल्म द रिटर्न ऑफ जैंडर केज और संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती में काम कर रही हैं. अपने एक्टिंग करियर के अलावा दीपिका अखबारों के लिए स्तंभ लिखती रही हैं. वे फेमिनिज्म और डिप्रेशन जैसे मुद्दे पर खुलकर बोलने के लिए जानी जाती हैं. मेंटल हेल्थ के बारे में लोगों को जागरुक करने के लिए उन्होंने लिव-लव-लाफ फाउंडेशन की स्थापना की है.

सनी लियोनी, अभिनेत्री

सनी लियोनी भारतीय मूल की कैनेडियन-अमेरिकन एक्ट्रेस हैं, उनका असली नाम करनजीत वोहरा हैं. उनके पिता दिल्ली से और मां हिमाचल की रहने वाली थीं. हिंदी फिल्मों में काम करने से पहले वे एक जर्मन बेकरी, एक इनकम टैक्स रिटायमेंट फर्म और अमेरिकन पॉर्न इंडस्ट्री में काम कर चुकी थीं. वे कैंसर के मरीजों और जानवरों के लिए काम करने वाली संस्था पेटा से भी जुड़ी हुई हैं.

वे सलमान खान के साथ उनके टेलीविजन शो बिग-बॉस में काम कर चुकी हैं और जनवरी 2017 में रिलीज होने वाली शाहरुख खान की फिल्म रईस में आईटम सॉंग कर रही हैं. बीबीसी ने उन्हें साल 2016 की 100 प्रभावशाली महिलाओं की सूचि में जगह दी थी जिसके बाद सनी ने कहा कि – सपने देखना एक औरत का अधिकार है और उन्हें पूरा करना उसकी जिम्मेदारी.


Sabahar India Post

इसे भी पढ़े -