You are here

केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू से मिले प्रकाशक

नई दिल्ली। विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) की नई प्रिंट मीडिया विज्ञापन नीति को लेकर समाचार पत्रों के प्रकाशक केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू से मिले और लघु व मझोले समाचार पत्रों के प्रति विज्ञापन नीति की विसंगतियों से अवगत कराया। श्री नायडू ने सभी तथ्यों को ध्यानपूर्वक सुना और उचित मांगों पर जल्द संशोधन करने का आश्वासन दिया।

देश भर के सैंकडो पत्रकार पहले प्रेस क्लब पर एकत्रित हुए और फिर केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री के निवास की ओर कूच किया। उनके निवास पर जाकर मंत्री से मिलने की मांग की तथा जबतक केन्द्रीय मंत्री से प्रतिनिधिमंडल मंडल की बात न हो जाए तबतक वहीं जमे रहने की घोषण की। मंत्रालय द्वारा तत्काल मुलाकात का समय निश्चित कर केन्द्रीय मंत्री से प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात करवाई। मंत्रालय जाने वाले प्रतिनिधिमंडल में अशोक  नवरत्न,  पवन सहयोगी,  वसीउद्दीन सिद्दिकी,  शशिनाथ दूबे,  विष्णु पुरोहित  संजय शर्मा व सुबोध सहृदय सम्मलित थे।

केन्द्रीय मंत्री श्री नायडू ने कहा कि स्वच्छ कार्यप्रणाली व अच्छे समाचार पत्रों को प्रोत्साहित करने के यह नई नीति लागू की गई है किन्तु लघु और मझोले समाचार पत्रों को जो भी परेशानी हैं और जो नियमसंगत हैं उन्हे तुरन्त दूर किया जायेगा। उन्होने सभी बिन्दुओं पर सक्षम प्राधिकारियों से चर्चा कर तत्काल विसंगतियों को दूर करने का आश्वासन दिया।

अखबार बचाओं मंच के आह्वान पर देश भर के सैकड़ों प्रकाशक प्रेस क्लब पर एकत्रित हुए और केन्द्रीय मंत्री के आवास पर जाकर उनसे मिलने के लिए अडे रहे। आज की गतिविधि में प्रतिनिधिमंडल में सम्मलित प्रकाशकों के अलावा  संतोष भगवन व शमीम खान (प्रतापगढ),  सुरेन्दर वर्मा व  एस. के. धवन (चंडीगढ़), सुमित मिश्रा (रायबरेली),  अभ्युदय अवस्थी,  राजेश दीक्षित, मौ. शादाब खान,  अर्विन्दम भट्टाचार्य, मौ. हारून कारी, (सभी लखनऊ), डा. अजय शर्मा (आगरा),  अनिल शर्मा, अर्जुन जैन,  मुकेश वत्स, मौ. मुस्तकीम खान,  बालकिशन गोयल,  महेश शर्मा,  उपेन्दर चौधरी,  जे. के. मिश्रा, मौ. शुभान, मौ. केशर आलम,  सत्यदेव तिवारी, आशा यादव, प्रीति शर्मा, मौ. अनस सिद्दीकी, मौ. सऊद आलम, मौ. सरफराज खान,  सी. पी. सिंह,  विनोद छिब्बर व  वेद शर्मा कलीम खान, मोहम्मद अजीज आदि प्रकाशक सम्मलित थे।

 

इसे भी पढ़े -