You are here

राजधानी लखनऊ में 7 साल की बच्ची का रेप




लखनऊ. हबस के पुजारियों ने फिर एक बार मानवता को शर्मसार करने वाला घिनौना कार्य कर राजधानी को शर्मसार कर दिया .लखनऊ में गुरुवार शाम को पहली कक्षा में पढ़ने वाली एक सात साल की मासूम छात्रा के साथ बलात्कार किया. मासूम को दरिन्दे ने उसके आशियाना स्थित घर के बाहर से टॉफी दिलाने के बहाने बहला-फुसलाकर साथ ले गया और जंगल में उसके साथ दुष्कर्म किया.दरिंदगी की शिकार बच्ची लहूलुहान हालत में किसी तरह वहां से भागी और आशियाना थाने के पास बेहोश होकर गिर पड़ी. बच्ची की हालत देख राहगीरों के होश उड़ गए.किसी तरह बच्ची के पिता का नंबर पूछकर उन्होंने इसकी सूचना दी और पुलिस को इस दरिंदगी की जानकारी दी.

राजधानी में दिल दह्ला देने वाली घटना की गंभीरता को देख डीआईजी प्रवीण कुमार भी मौके पर पहुंचे और सख्त कार्रवाई का भरोसा ‌दिलाया. स्थानीय नागरिको के अनुसार बच्ची कानपुर रोड पर एक प्रतिष्ठित स्कूल की छात्रा और पिता सरकारी नौकरी में हैं.बताया जा रहा है कि गुरुवार शाम वह दादी के साथ घर के बाहर आई और मोहल्ले के बच्चों के संग खेलने लगी. करीब साढे पांच बजे दादी ने बच्ची को नहीं देखा तो यह बात बच्ची के मां को बताई.शाम साढ़े पांच बजे बेटी को गायब देखकर मां ने पुलिस को सूचना देते हुए मदद मांगी लेकिन पुलिस के कान में जू तक नहीं रेंगा.पीड़ित बच्ची के पिता ने भी पुलिस को फोन किया किन्तु हमेशा सुरक्षा का वादा करने वाली पुलिसे को इन की गुहार सुनाई नहीं पड़ी .

बच्ची के अभी तक पता न चल पाने के कारण परिजन परेशान थे इसी बीच गुरूद्वारे के पास से फोन आया कि एक बच्ची लहूलुहान हालत में मिली है.आनन् फानन में परिजन जब वहां पहुंचे तो उनके होश उड़ गए. वे तुरंत बच्ची को लेकर लोकबंधु अस्पताल पहुंचे. यहां प्राथमिक उपचार के बाद बच्ची को ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया.बच्ची के अनुसार एक बदमाश उसे टॉफी दिलाने के बहाने ले गया और गलत काम किया.

डीआईजी प्रवीर कुमार का कहना है कि आरोपी वारदात के एक किलोमीटर के दायरे का ही रहने वाला है. बच्ची ने बताया है कि उसने नीली सफ़ेद शर्ट पहनी थी. उन्होंने कहा कि आरोपी को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा.

इसे भी पढ़े -