You are here

अस्पतालों में जीन्स व टी-शर्ट पहनने पर बैन

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार का एक्शन गुरुवार को भी जारी है. गौतमबुद्धनगर के जिला अस्पताल में डॉक्टर और कर्मचारियों को जीन्स और टी शर्ट पहनने पर पाबंदी लग गई है वहीं महिला डॉक्टर सिर्फ साड़ी और सलवार शूट पहनकर ही आएंगी.

बुधवार को सरकारी दफ्तर में पान-गुटखा और पॉलिथीन बैन लगाने के बाद आज सरकार ने निर्देश दिए कि सरकारी स्कूलों के आसपास पान-गुटखा पर प्रतिबन्ध होना चाहिए. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यूपी सरकार ने सरकारी स्कूल के टीचर्स को टीशर्ट पहनकर स्कूल नहीं आने के निर्देश दिए हैं और स्कूल में पान के धब्बे हटाने के लिए एक दिन का समय दिया जाएगा.

नकल को रोकने के लिए लेकर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि वह इस बारे में डीएम से बात करेंगे. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी डीएम से बात की जाएगी वहीं डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा है कि हर सड़क की जांच होगी फिर वह चाहे सपा कार्यकाल में बनी हो या फिर बसपा
कार्यकाल में,आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस की भी जांच होगी.

इससे पहले मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी भी एक्शन में नजर आए और उन्होंने आज लखनऊ के थाने का निरीक्षण किया. इससे पहले उन्होंने बुधवार को सरकारी ऑफिस का निरीक्षण किया था. सीएम योगी आदित्य लखनऊ के हजरतगंज में महिला थाने पहुंचे. यहां उन्होंने थाने का निरीक्षण किया और कामकाज का जायजा लिया. सीएम के इस निरीक्षण के बारे में एसएसपी मंजिल सैनी को पता ही नहीं था. योगी ने कहा कि यह पहला निरीक्षण पहली बार नहीं है और ऐसे निरीक्षण आगे भी जारी रहेंगे.

यूपी में मंत्रालयों के बंटवारे के बाद आज से मंत्रियों ने अपने-अपने विभागों को कार्यभार संभालना शुरू कर दिया है. किसी मंत्री ने दफ्तर की सफाई के बाद कार्यभार संभाला तो किसी ने काम संभालते ही कर्मचारियों को शपथ दिलाई.

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कार्यभार संभालते ही कर्मचारियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई.मीडिया से बात करते हुए श्रीकांत ने कहा कि वह हर गांव और कस्बे में 24 घंटे बिजली देने का वादा किया और वह उसे पूरा करेंगे. उपेंद्र तिवारी ने अपने विधान भवन के कमरे में बैठने से पहले कमरे को खुद झाड़ू से साफ किया. मंत्रियों ने विधानसभा में जाने से पहले कमरे में पूजा अर्चना की मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने अपने कमरे का जायजा लिया.

आपको बता दें कि बुधवार को सीएम आदित्यनाथ योगी ने सभी मंत्रियों को उनका विभाग बांटा और अपनी कैबिनेट तैयार की उनके पास 37 मंत्रालय रहेंगे.

इसे भी पढ़े -