You are here

तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट ने बनाई संविधान पीठ

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला लेते हुए तीन तलाक और तलाक के बाद मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों के मामले पर सुनने के लिए संविधान पीठ का गठन किया है। 5 जजों वाली यह पीठ 11 मई से इस मामले की सुनवाई करेगी। संभवतः पीठ में मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर हो सकते हैं।

न्यायमूर्ति जेएस खेहर और न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड की बेंच ने कहा कि ये मामला महत्वपूर्ण और संवेदनशील है। इसलिए 11 मई से इस पर संविधान पीठ सुनवाई करेगी। 11 मई से रोजाना सुनवाई के संकेत देते हुए कहा, कि ’11 और 12 मई को गुरुवार और शुक्रवार है। उसके बाद का अगला हफ्ता भी सुनवाई के लिए उपलब्ध होगा। हम शनिवार और रविवार को भी सुनवाई के लिए तैयार हैं।’ पीठ ने संबंधित पक्षकारों से कहा है कि जिन्होंने अपने लिखित जवाब दाखिल नहीं किए हैं वो दो हफ्ते में जवाब दाखिल करें।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट में 11 मई से गर्मियों की छुट्टियां शुरू हो रही है। इस कारण कई वरिष्ठ वकील सुनवाई का विरोध कर रहे हैं। लेकिन कोर्ट ने वकीलों की आपत्तियां खारिज करते हुए कहा, ‘यह अहम मुद्दा है और हम इसे सेटल करना चाहते हैं। इसमें देर करना उचित नहीं है। देर होने पर आप हमें ही दोष देंगे।’ जून तक चलने वाले अवकाश काल में संभवत: तीन संविधान पीठें बैठेंगी, जो तीन तलाक के अलावा दो अन्य मुद्दों पर सुनवाई करेंगी।

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment