You are here

दिल्ली यूनिवर्सिटी में विधार्थी परिषद् की सरेआम गुंडागर्दी

नई दिल्ली.दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में मंगवार को एक सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में उमर खालिद और शेहला रशीद को शामिल होने को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों जबरदस्त विरोध किया,वहीं कॉलेज प्रशासन ने विरोध को देखते हुए उमर खालिद और शेहला रशीद को सेमिनार में शामिल करने से इनकार कर दिया.

खालिद उमर के पहुंचने से पहले डीयूएसयू और एबीवीपी के छात्र कैंपस पहुंचे उपद्रवी कार्यकर्ताओं प्रिंसिपल राजेंद्र प्रसाद पर पथराव किया और खालिद उमर के सेमिनार में बुलाए जाने क विरोध किया। विरोध के बावजूद जब आयोजनकर्ताओं ने सेमिनार जारी रखी तो कार्यकर्ताओं ने पत्थरबाजी की. प्रिंसिपल राजेंद्र प्रसाद के मुताबिक  छात्रों के विरोध को देखते हुए हमने उमर खालिद और शेहला रशीद को सेमिनार में शामिल करने से मना कर दिया.

दिल्ली के रामजस कॉलेज में वाइल्ड क्रॉफ्ट ने दो दिवसीय सेमिनार कल्चर ऑफ प्रोटेस्ट का आयोजन किया गया .सेमिनार का आयोजन रामजस कॉलेज के लिट्रेरी सोसाइटी और अंग्रेजी विभाग ने किया. सेमिनार में मौजूद एक छात्र के मुताबिक, एबीवीपी के छात्रों ने उस समय विरोध किया जब सेमिनार बंद कॉन्फ्रेंस रूम चल रही थी। एबीपीवी समर्थकों ने खिड़कियों पर ईंट और पत्थर फेंकना शुरु कर दिया.

उमर खालिद ने कहा एबीवीपी के लोगों को मेरे लेक्चर का विरोध कर रहे हैं, वे गुंडागर्दी कर रहें,वहीं शेहला रशीद ने कहा सेमिनार में मेरा लेक्चर कैंसिल हो गया जिसकी हमें कोई परवाह नहीं है.

इसे भी पढ़े -