You are here

पाकिस्तान में सीट मांगो ,बुजुर्ग मुस्लिम के साथ युवाओ का मेट्रो में बर्ताव

नई दिल्ली. राजधानी की मेट्रो में एक बुजुर्ग मुस्लिम शख्स से बुरे बर्ताव और भेदभाव का मामला सामने आया है. 2 लड़कों ने शख्स को सीट देने से इनकार कर दिया और कहा पाकिस्तान चले जाओ और वहां सीट मांगो.एक वुमन राइट एक्टिविस्ट ने मेट्रो में पिछले हफ्ते हुई इस घटना का जिक्र अपनी फेसबुक पोस्ट में किया है.

भास्कर की खबर के मुताबिक वुमन राइट एक्टिविस्ट कविता कृष्णन ने इस शर्मनाम वाकये का जिक्र अपनी फेसबुक पोस्ट में किया, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ. फेसबुक पोस्ट के मुताबिक दोनों लड़के सीनियर सिटीजंस की सीट पर बैठे हुए थे, तभी एक बुजुर्ग मुस्लिम शख्स उनके पास आया और सीट पर जगह देने की रिक्वेस्ट की, लेकिन लड़कों ने इनकार कर दिया। जब बुजुर्ग शख्स ने दोबारा गुजारिश की तो लड़के बोले ये सीट हिंदुस्तानियों की है, तुम्हारे जैसे पाकिस्तानियों की नहीं, अगर तुम्हें सीट चाहिए तो पाकिस्तान जाओ और वहां मांगो.

मंडी शुल्क खत्म न पर प्रदेश का किराना व गल्ला कारोबार चौपट हो जाएगा-बनवारीलाल कंछल

पोस्ट के मुताबिक ये सब देख ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस के नेशनल सेक्रेटरी संतोष रॉय ने हस्तक्षेप किया और बुजुर्ग मुस्लिम शख्स के सपोर्ट में आगे आए. रॉय ने लड़कों से नफरत भरी बातों के लिए मांगने को कहा और बुजुर्ग शख्स को सीट देने को कहा लेकिन लड़कों ने फिर इनकार कर दिया. इतना ही नहीं लड़कों ने रॉय की कॉलर पकड़कर उन्हें धक्का दे दिया और उनसे भी पाकिस्तान चले जाने को कहा.

सहारनपुर : बच्चों की आंखों में दिखा खौफ कभी भूल नहीं सकती- SSP की पत्नी

पोस्ट के मुताबिक जब मेट्रो खान मार्केट स्टेशन पहुंची तो एक सिक्युरिटी गार्ड कम्पार्टमेंट में आया. उसकी मदद से राॅय और मेट्रो में मौजूद बाकी लोग लड़कों को पकड़कर पंडारा रोड पुलिस स्टेशन पहुंचे, मगर वहां कुछ देर बाद ही लड़कों को छोड़ दिया गया हालांकि पुलिस ने शिकायत दर्ज ली. कुछ दिनों बाद रॉय जब पुलिस स्टेशन गए तो उन्हें पता चला कि बुजुर्ग शख्स ने अपनी शिकायत वापस ले ली है.
बिजली विभाग की लापरवाही से हाथ –पैर गवां चुके बच्चो को 60-60 लाख के मुवावजे का हाईकोर्ट ने दिया आदेश

कविता कृष्णन ने पोस्ट में लिखा है, बुजुर्ग शख्स ने पुलिस को लिखित में ये बयान दिया कि उसने दोनों लड़कों की माफी मंजूर कर ली है और उनकी कम उम्र को देखते हुए उन्हें माफ कर दिया है.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -