You are here

बसपा को वोट देने पर मारे गए दलित की बहन के शादी में मदद करेगी ये समिति

लखनऊ. मैनपुरी के बेवर थाना क्षेत्र में बीएसपी को वोट देने पर जान से मार दिए गए दलित युवक की बहन की शादी को व्यवधान से बचाने के लिए आरक्षण बचाओ समिति करेगी गांव का दौरा करेगी. इसके साथ ही समिति द्वारा शादी में आर्थिक मदद भी की जाएगी.

यूपी में विधानसभा चुनाव के तृतीय चरण 19 फरवरी, 2017 को जनपद मैनपुरी के नगला ताल भोगांव विधानसभा में दलित मतदाता आलोक कुमार की उसी गांव के कुछ अति जातिवादी दबंगों द्वारा स्वतंत्र रूप से अपने मताधिकार का प्रयोग करने पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी, जिसकी बहन आरती की 4 मार्च को शादी तय है.

समिति की तरफ से कहा गया है कि शादी को ऐतिहासिक बनाकर उसके भाई की कमी को दूर करने का प्रयास किया जाएगा। आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ.प्र. अनेकों मामलों में पूर्व में भी अपने दलित कार्मिकों की तरफ से ‘‘बाबा साहब पे बैक टू सोसाइटी‘‘ के तहत आर्थिक मदद करती रही है.
मैनपुरी जिले के भोगांव विधानसभा के तहत थाना बेवर क्षेत्र के गांव नगला ताल में रविवार शाम को मतदान प्रक्रिया चल रही थी। गांव निवासी दलित आलोक कुमार (24) चार बजे वोट डालकर घर लौट रहा था. तभी रास्ते में गांव निवासी ठाकुर विक्रम सिंह ने रोक कर कहा कि तूने किसे वोट दिया है। आलोक ने जवाब दिया कि मायावती को. इसी बात पर दोनों में कहासुनी हो गई. तभी विक्रम ने तमंचा निकालकर आलोक को गोली मार दी। गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी वहां से भाग गया. पुलिस को मृतक के पिता रामप्रकाश जाटव ने बताया कि मायावती को वोट देने को लेकर विक्रम ने आलोक को गोली मारी है.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और जी प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -