You are here

जो पिता बेटे का नहीं हुआ और बेटा पिता का नहीं हुआ, वह जनता का क्या होगा- उमा भारती




लखनऊ. केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने उत्तर प्रदेश के चुनाव में  बसपा  के साथ किसी भी तालमेल की संभावना से इनकार किया है. प्रदेश की  समाजवादी जंग  को शर्मनाक बताते हुए कहा कि इस प्रकार की मानसिकता वाले लोगों ने इतने बड़े प्रदेश पर इतने दिनों तक राज किया.

समाजवादी पार्टी में की जंग केवल कुर्सी की है. मुलायम सिंह समाजवादी या लोहियावादी नहीं बल्कि परिवारवादी हैं. सपा किसी की भी हितैषी नहीं हैं.जो पिता बेटे का नहीं हुआ और बेटा पिता का नहीं हुआ, वह जनता का क्या होगा.

उक्त बाते रामपुर में बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान को बढ़ावा देने पहुची उमा भारती ने कही. उन्होंने बसपा सुप्रीमो मायावती  को कहा कि नोटबंदी से भारत में सबसे ज्यादा परेशानी मायावती को हुई है. खुद तो मायावती ने  नोटों की माला पहनी और गरीबों को उनके राज में तुलसी की माला भी पहनने को नहीं मिली.

कांग्रेस की चर्चा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक समय पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी दोनों ने बोलना बंद कर दिया था, जिसे हिमयुग या आइस एज कहा जाना चाहिये.उमा भारती ने कहा कि भाजपा में महिलाओं का सम्मान बढ़ा है। उनके पास काम का मंत्रालय है खाना बनाने या साड़ी ब्लाउज बेचने का नहीं.

इसे भी पढ़े -