You are here

सपा का विवाद अभी ख़त्म नहीं हुआ

लखनऊ।समाजवादी पार्टी के रजत जयंती समारोह के मंच भी दिखा और यह साबित हो गया की लालू यादव के कहने पर अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव का पैर तो छु लिया पर गृह यूध अभी समाप्त नहीं हुआ है एक दुसरे के मन में अब भी नीचा दिखाने का इरादा बरक़रार है और इस इरादे में कोपभाजन का शिकार हो रहे है एक दुसरे नेता के समर्थक ।रजत जयंती कार्यक्रम में दबी जुबाने स्वीकार किया की पार्टी में चल रही उठा पटक में हम ससंकित है की कब क्या हो जाय।
रजत जयंती समारोह में मंच पर उस वक्त तनातनी जैसे हालत बने जब मुख्यमंत्री अखिलेश के करीबी माने जाने वाले रिमोट सेंसिंग अप्लीकेशन सेंटर के सलाहकार जावेद आब्दी को भाषण से रोक धकियाते हुए हटा दिया गया। हुआ यूं कि आब्दी ने अखिलेश के कसीदे काढ़ते हुए जब कहा,नेताजी आप चांद हैं तो अखिलेश चांदनी, नेताजी आप होश हैं तो अखिलेश युवा जोश। आप सागर है तो अखिलेश गहराई। ऐसे अलंकरण सुन मुलायम की भृकुटि तनी तो सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव सीधे माइक के पास पहुंचे और धक्का देते हुए आब्दी को मंच से हटाया। आब्दी देर शाम मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ उनके सरकारी आïवास पर नजर आए। ध्यान रहे, इससे पहले वर्ष 2014 में सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान इसी मंच पर जावेद आब्दी कमोवेश इसी अंदाज में कसीदे काढ़े थे, उस समय के संचालक प्रो. राम गोपाल यादव ने भी आब्दी से नाराजगी जाहिर की थी।
हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने मुजफ्फरनगर में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार में परिवारवाद चल रहा है, इसलिए प्रदेश का विकास नहीं हो पा रहा हैं। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने ङ्क्षलगानुपात की समस्या पर लगभग काबू पा लिया है। लगातार घट रही लड़कियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। यदि कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए जनता, सरकार व प्रशासन का सहयोग करे तो संपूर्ण देश में लड़कियों की संख्या लड़कों के बराबर होगी। इसके पूर्व उन्होंने क्षेत्रीय गुर्जर विकास समिति के तत्वावधान में शुक्रताल की गुर्जर धर्मशाला में शहीद स्मृति सभा भवन के भूमि पूजन एवं शिलान्यास समारोह में शिरकत की।

इसे भी पढ़े -