You are here

समाजवादी बादशाह मुलायम सिंह यादव अब परिवार की जंग में हारे

लखनऊ. समाजवाद की जंग के बेताज बादशाह मुलायम सिंह यादव अब परिवार की जंग में हार रहे है .आज मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि हमने अखिलेश को कहा है कि मुख्यमंत्री तुम ही बनोगे, लेकिन रामगोपाल यादव से अलग हो जाओ क्यों कि रामगोपाल पार्टी तोड़ रहे हैं.हम ना तो अलग पार्टी बना रहे हैं और ना ही चुनाव चिन्ह बदल रहे हैं.किसी भी कीमत पर हम अपनी पार्टी नहीं छोड़ेंगे, बचा कर रहेंगे.
मुलायम ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मैं लिखकर देने को तैयार हूं, लेकिन अखिलेश पहले खुद को रामगोपाल से अलग करें, रामगोपाल अखिलेश को बरगला रहे हैं.मैंने अखिलेश से कहा कि विवाद में मत पड़ो, हम पार्टी में एकता चाहते हैं, वो अलग पार्टी बना रहे हैं.समाजवादी पार्टी बनाने के लिए हमने अनेको बार लाठियां खाई,जुल्म सहे हैं. हम नहीं चाहते हैं कि पार्टी टूटे.मैंने गरीबी में परिवार छोड़ा. अब मेरे पास क्या बचा है.किसी भी कीमत पर हम पार्टी को न टूटने ,न पार्टी का नाम और सिंबल बदलेंगे.
मेरे और साथियो के संघर्ष करके समाजवादी पार्टी बनी है, इमरजेंसी के दौरान हमने बहुत संघर्ष किया. इसके बाद चुनाव लड़ा और बहुमत में आई. कार्यकर्ताओं की मेहनत और संघर्ष से पार्टी आगे बढ़ी.मुलायम सिंह यादव ने कहा रामगोपाल यादव दूसरी पार्टी के अध्यकक्ष से 4 बार मिले, रामगोपाल लड़के-बहू के कहने पर पार्टी को तोड़ रहे हैं. रामगोपाल अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बनाने के साथ ही मोटरसाइकिल चुनाव चिन्हड मांग रहे हैं.कुछ लोग भाजपा के साथ मिलें है , लेकिन हमारी पार्टी की एकता में कोई बाधा नहीं आएगी. मुलायम ने कहा मेरे पास जो था वो देश का है और मेरे पास क्या है? मेरे पास आप सब कार्यकर्ता हैं.मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा है. मेरे पास जो कुछ था सब दे दिया.हमने इमरजेंसी के बाद चुनाव लड़ा और बहुमत में आए, कार्यकर्ताओं की मेहनत और संघर्ष से पार्टी आगे बढ़ी.


loading...

इसे भी पढ़े -