You are here

सुदर्शन न्यूज़ का संपादक सुरेश चव्हाण चढ़ा पुलिस के हत्थे

उत्तर प्रदेश पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाण को लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया है.सुरेश के ऊपर अय्याशी के भी तमाम आरोप लगे है .सुरेश चव्हाणके पर संभल में कई धाराओं के तहत मामला दर्ज है.

संभल के पुलिस अधीक्षक रवि शंकर छवि ने चव्हाणके की गिरफ़्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि उन पर संभल में भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 259ए और 505 (1ए) के तहत मामला दर्ज है.

पुलिस के मुताबिक सुरेश चव्हाणके पर समुदायों के बीच नफ़रत फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और अफ़वाहें फैलाने के आरोप हैं.

सुरेश चव्हाणके पर संभल को लेकर भ्रामक रिपोर्टिंग करने के आरोप हैं.पुलिस अधीक्षक के मुताबिक इसी मामले में उनकी गिरफ़्तारी हुई है.

अपनी गिरफ़्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए सुरेश चव्हाणके ने मीडिया से कहा कि “मुझ पर निराधार एफ़आईआर दर्ज की गई है.

जब उनसे पूछा गया कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में अपनी गिरफ़्तारी को वो कैसे देखते हैं तो उन्होंने कहा, “योगी जी को मेरी गिरफ़्तारी के बारे में जानकारी ही नहीं होगी.”

सुरेश चव्हाणके ने 13 अप्रैल को संभल के एक धर्मस्थल में जल चढ़ाने का एलान किया था जिसके बाद एक स्थानीय कांग्रेसी नेता इतारत हुसैन बाबर ने चव्हाणके के संभल पहुंचने की स्थिति में उन पर हमला करने की धमकी दी थी.

पुलिस ने ख़ुद को शहर की जामा मस्जिद का इमाम बताने वाले बाबर को भी एफ़आईआर में नामजद किया है. एक स्थानीय भाजपा नेता का नाम भी एफ़आईआर में है.

फिरहाल शहर में तनाव के मद्देनज़र भारी पुलिस बल तैनात किए गए हैं.

इसे भी पढ़े -