You are here

24 घण्टो में तीन लड़कियो के मौत का जिम्मेदार कौन?

बस्ती .बस्ती जनपद के तीन अलग अलग थानो से पिछले दो दिनों के अन्दर तीन लड़कियो की लाश मिली जिससे पुलिस भले ही न हरकत में न आई हो पर लोगो के बीच चर्चा जरूर है की इस प्रकार की घटना को किसने किया और क्यू ,लाशो के मिलने की खबरे अखबारो की सुर्खियों नही बन सकी और इनको न्याय कैसे मिलेगा ,आप को बताते चले की यह सिलसिला 17 जनवरी की चालू हुआ जिसमे पहली लड़की की लाश वाल्टरगंज थाना के डमरुआ जंगल में मिली जिसकी उम्र करीब 20 साल के करीब होगी और चेहरे पर गम्भीर चोट के निशान है जिसको मार कर फेक दिया गया ,तो वही दूसरी लाश उसी दिन थाना रूधौली जनपद बस्ती में अज्ञात लड़की का शव मिला है जो भूरे रंग का कुर्ता सफेद रंग की सलवार पहने हुए हैं दाहिने हाथ में गोदना पिंकी लिखा गले में नीले रंग की प्लास्टिक की रस्सी लिपटी हुई मिली. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए तो भेज दिया है लेकिन इस लड़की की पहचान नही हो सकी, तो वही तीसरी लाश नगर थाना अंतर्गत एक सरसो के खेत में  17 वर्षीय अर्चना की लाश मिली.अर्चना की लाश पर चाकू के वार के निशान थे .घटना की सूचना पर मौके पर पहुची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर जाँच प्रारंभ किया . अर्चना नगर थाना छेत्र के जुआजाता गांव की रहने वाली थी सबसे बड़ी बात यह की आज प्रदेश में लडकिया सुरछित क्यू नही है जबकी प्रदेश की अखिलेश सरकार ने कई योजना चला कर महिलाओ की सुरक्षा का दावा किया ,जिसमे महिला हेल्पलाइन डायल 100,1090 सहित करोड़ो रुपये खर्च कर  उत्तर प्रदेश  पुलिस को हाइटेक किया लेकिन जमीनी हकीकत में पुलिस को अभी और मजबूत करने की जरूरत के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी अपने विवाद की साथ प्रदेश की जनता की सुरक्षा और विगड़ते कानून व्यवस्था की तरफ भी धयान देना चाहिये और देखना यह की इन हत्याओ का खुलासा पुलिस कब  तक करेगी.

इन घटनाओं पर  पुलिस कप्तान  शैलेष पाण्डेय ने बताया की तीन में एक की पहचान हो हुई है शेष की छानबीन चल रही है .


इसे भी पढ़े -