You are here

ये सब चलता रहेगा. लड़ाई जारी रहेगी, जिसको जो करना है कर ले – हार्दिक पटेल

बरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल लिखते है कि संघियों के आदर्श यानी रोल मॉडल राघवजी हैं. उन्हें हार्दिक पटेलों से चिढ़ है.अबे संघियों, हार्दिक पटेल एक सामान्य, स्वस्थ युवक है. तुमको काहे की चिढ़ मची है?

अहमदाबाद.गुजरात चुनाव में साम ,दाम ,दंड ,भेद के राजनीति की जोर अजमाइश हो रही है ,पाटीदार आन्दोलन के नेता हार्दिक पटेल द्वारा भाजपा हराओ संकल्प के बाद से ही पाटीदार बाहुल्य गुजरात में भाजपा असहज स्थित में रही ,पहले हार्दिक के साथियो को तोड़ने की कोशिस हुई किन्तु विरोधियो की तोड़ -फोड़ की नीति को हार्दिक के साथियो ने चकमा देकर उनकी खरीद -फरोख्त को सार्वजनिक कर गुजरात चुनाव में नंगा कर दिया था .भाजपा नेताओ ने खरीद -फरोख्त की राजनीति में पटखनी खाने के बाद से ही हार्दिक के राजनैतिक कैरियर को ख़त्म करने का मास्टर प्लान तैयार कर लिया ,जिसकी पुष्टि खुद हार्दिक पटेल ने किया है .

पाटीदार अनामत आन्दोलन के नेता हार्दिक की तथाकथित सीडी को वायरल कर विरोधियो ने चुनावी राजनीति में एक नया बवाल खड़ा कर दिया है . उक्त सीडी में कथित तौर पर हार्दिक पटेल एक कमरे में एक महिला के साथ दिख रहे हैं. हार्दिक ने सीडी जारी होने के बाद कहा है कि मैंने पहले भी कहा था कि इन लोगों का मास्टर प्लान गंदी राजनीति की ओर चलता जा रहा है. ये सब चलता रहेगा. लड़ाई जारी रहेगी, जिसको जो करना है कर ले.

हार्दिक विरोधियो द्वारा उक्त सीडी उस वक्त जारी किया गया है , जब हार्दिक अपनी टीम के साथ ये फैसला करने के लिए बैठक करने वाले हैं कि कांग्रेस के साथ चुनाव में क्या संबंध रखने है. होटल में रिकॉर्ड हुए लगभग चार मिनट की यह सीडी 16 मई 2017 की है और वीडियो में एक व्यक्ति जो एक अज्ञात महिला के साथ हार्दिक पटेल जैसा दिखाई दे रहा है.

गुजरात में पटेल समाज भाजपा का परम्परागत वोट बैंक रहा है किन्तु इस बार गुजरात विधानसभा चुनाव में पाटीदार नेता हार्दिक ने समुदाय को कांग्रेस को अपना समर्थन देने का वादा किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य की आबादी का लगभग 14 प्रतिशत हिस्सा पाटीदार समुदाय है. सीडी केस में हार्दिक पटेल ने ट्वीट किया कि अब गंदी राजनीति की शुरुआत हो गई है. मुझे बदनाम कर लो कोई फर्क नहीं पड़ेगा, लेकिन गुजरात की महिलाओं का अपमान किया जा रहा हैं.

कथित सेक्स सीडी के वायरल होने के बाद से ही इस मुद्दे पर राजनैतिक तापमान बढ़ गया है .पाटीदार आंदोलन के एक अन्य संगठन सरदार पटेल ग्रुप ने इसकी न्यायिक जांच कराने की मांग की है.

हार्दिक विरोधियो ने इसके पूर्व भी अक्टूबर महीने में एक सीसीटीवी फुटेज भी लीक करवाकर हार्दिक को घेरने की कोशिस किया था . जिसमें यह दिखाया गया था कि हार्दिक पटेल अहमदाबाद के एक पञ्च सितारा होटल में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे. हालांकि उन्होंने राहुल गांधी के साथ इस बैठक की सीसीटीवी फुटेज को इनकार कर दिया और कहा कि वह होटल में मौजूद थे, लेकिन वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक गहलोत से मुलाकात की थी न कि राहुल गांधी से हालांकि हार्दिक का यह संदेश दिखाता है कि कांग्रेस को उन्हें हल्के में नहीं लेना चाहिए.

तथाकथित वीडियो के वायरल होने के बाद हार्दिक पटेल ने सरगासण के एक फार्म हाऊस में मीडिया से बातचीत में कहा कि वह एक हफ्ते पहले से ही ऐसी सीडी बाहर आने की आशंका जता चुके थे, जिससे उनकी बदनामी होगी.

बरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल लिखते है कि संघियों के आदर्श यानी रोल मॉडल राघवजी हैं. उन्हें हार्दिक पटेलों से चिढ़ है.अबे संघियों, हार्दिक पटेल एक सामान्य, स्वस्थ युवक है. तुमको काहे की चिढ़ मची है?


वही भाजपा ने विवादास्पद सीडी पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है. भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने भी यह इनकार कर दिया कि यह सेक्स सीडी उनके द्वारा लीक की गई थी.

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -