You are here

सत्ता के नशे में चूर भाजपा विधायक ,फर्जी तरीके से अनूप पटेल की बीम तुडवा कर दी जेल भेजने की धमकी

लखनऊ.समाजवादी पार्टी की सरकार में सपा विधायक व मंत्रियो पर गुंडा गर्दी का आरोप लगाने वाली व सत्ता प्राप्ति के बाद भय मुक्त अपराध मुक्त सरकार का सीना थोक कर दावा करने वाली भाजपा के विधायक व मंत्री गुंडा गर्दी का नंगा नाच कर रहे है ,शान्ति और भाई चारे का दंभ भरने वाली भाजपा को अपने ही विधायको /कार्यकर्ताओं का नंगा नाच नहीं दिख रहा है .



ताजा मामला बांदा जिले की बबेरू विधानसभा से भाजपा विधायक चन्द्रपाल कुशवाहा का है . इस विधायक पर सत्ता का नशा इस कदर हाबी है कि जेएनयू के एक्टीविस्ट और वर्तमान में लखनऊ के निजी वि.वि. में प्रवक्ता अनूप पटेल को उनके अपने ही प्लॉट की बीम तुड़वानी पड़ी. इतना ही नहीं कोतवाल पर इतना दवाब डाला कि बीम ना टूटने तक अनूप पटेल और उनके चाचा को कोतवाली में ही बैठाए रखा गया.

कैबिनेट मंत्री ठाकुर मोती सिंह से ब्लॉक प्रमुख कंचन वर्मा को जान का खतरा !

पीड़ित अनूप पटेल के अनुसार 4 जून की रात के 11 बजे से 1 बजे के बीच बबेरू का भाजपा विधायक चंद्रपाल गांव मेरे गाव पारा-परास तहसील बबेरू में बन रहे मकान की बीम तुड़वा देता है. बबेरू कोतवाल रामआसरे सिंह पर दबाव डालता है कि जब तक बीम नहीं टूटती मेरे परिवार के लोगो को लॉक-अप में बंद करे. 7 जून को विधायक से जब मिलता हूँ तो कहता है कि मैंने उनका आदेश नही माना है.




मै कहता हूँ कि जब कोई भी लिखित प्रपत्र/आदेश नही मिला है तो आपके द्वारा फोन के माध्यम से आए आदेश को क्यो मानूं,विधायक अपनी बातों में फंस जाता है. विधायक को 40 मिनट तक जनप्रतिनिधि होने का अहसास दिलाता हूँ. विधायक को उसकी गलती से रूबरू करवाता हूँ. यह कह के विधायक के आवास से निकलता हूँ कि जो तुमने अपने ठसक में मानसिक/आर्थिक नुकसान पहुचाया है. उसकी एक-एक पाई हिसाब देना होगा.

योगी राज : सुमित पटेल को गोली मारने वाले ठाकुरों की बजाय 8 पीड़ित कुर्मी पहुचे जेल

मुझे खुद अपने ही प्लाट पर स्टे लेने पर मजबूर किया जाता है. 9 जून को जब मेरे वकील बबेरू उप जिलाधिकारी सीएल सोनकर से स्टे पर साइन करवाने के लिये जाते हैं तो उस पर एसडीएम साइन नही करते. मेरा वकील उप जिलाधिकारी के चैम्बर से बाहर चला जाता है. मुझे कुछ सीनियर्स से जानकारी हुई थी कि उप जिलाधिकारी दलित विमर्श में रुचि रखते हैं.

चलते-चलते यही कहा था कि अन्याय मत करियेगा, नही तो लड़ाई लंबी हो जाएगी. उसी दिन दोपहर को बबेरू उप जिलाधिकारी , बबेरू कोतवाल और पैमाइश के लिये कानूनगो और लेखपाल सहित आते हैं. पैमाइश में हमारा प्लाट में एक इंच की भी गड़बड़ी नही निकलती है.



जब उप जिलाधिकारी और कोतवाल गांव से जाने लगे तो मैंने कहा कि सर! ये जो अन्याय हुआ है, नुकसान हुआ है इसको कौन भरेगा? दो बार और कहने पर उप जिलाधिकारी ने कहा कि वो लेखपाल थोड़े हैं. पहले की छोड़ो और अब अच्छे से मकान बनवाओ.कोतवाल से यही बात मैंने कही तो कोतवाल ने उस जगह जमा लोगो के बीच ये स्वीकार किया कि उनके ऊपर विधायक चंद्रपाल कुशवाहा का बहुत दबाव था कि किसी भी तरह से बीम टूटे.


अनूप पटेल ने कहा कि जब प्रशासन की नजर में हमारी कोई गलती नही है तो विधायक ने जबरदस्ती हुकुम क्यों थोपना चाहा. सीधी बात है हमारे परिवार का जो मानसिक-आर्थिक नुकसान हुआ है उसका जिम्मेदार बबेरू विधायक है.

योगीराज : दलितों पर ठाकुरों का हमला, तीन की हालत गंभीर,6 घायल

समाचार माध्यमो से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को बताना चाहता हूँ कि ऐसे भाजपा जनप्रतिनिधि पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करें और जो हमें जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई करवाएं.

अब अनूप पटेल ने एक संदेश फिर लिखा है फेसबुक पर संघर्ष जारी रहेगा-

बबेरू के उप जिलाधिकारी  सीएल सोनकर का ट्रांसफर हो गया है. हमारे परिवार के खिलाफ साजिश रचने वाले में से एक शख्स से हिसाब बाकी है वो है, बबेरू विधायक चंद्रपाल कुशवाहा.सच को दबाने की बहुत कोशिश की इन दोनों ने, लेकिन दोनों ने मुंह भर माटी खायी है.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

One Thought to “सत्ता के नशे में चूर भाजपा विधायक ,फर्जी तरीके से अनूप पटेल की बीम तुडवा कर दी जेल भेजने की धमकी”

Comments are closed.