You are here

बलरामपुर में बिक रहा प्लास्टिक का चावल


फरीद आरजू
बलरामपुर। चावल खाने के अगर आप शौकीन है तो जरा होशियार हो जाइए । देख लीजिये कही चावल के नाम पर आपको जहर तो नही खा रहे है । जी हाँ हम जो आपको बताने और दिखाने जा रहे है उसे देखकर आप भी दंग रह जायेगे । कुछ लोग पैसे के लिये न सिर्फ आपके जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे है बल्कि आपकी आने वाले नस्लो को तबाह कर रहे है ।

स्लाटर हाउस पर पुलिस का छापा, करीब दस कुन्तल प्रतिबंधित पशु का मांस बरामद

यूपी के बलरामपुर में चावल के नाम पर बड़े पैमाने पर जनता को जहर खिलाकर उनकी जिंदगियो के साथ जमकर खिलवाड़ किया जा रहा है । प्लास्टिक के सफेद चावल का काला कारोबार का खुलासा उस समय हुआ जब सुशील कुमार का एक उपभोक्ता पका हुआ चावल डीएम आफिस में लेकर पहुच गया और डीएम को दिखाते हुऐ शिकायत दर्ज कराई ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गड्ढा मुक्त प्रदेश का दावा फेल

डीएम राकेश कुमार मिश्रा ने पके हुऐ चावल को जाँच करने के लिये जमीन पर गोला बना कर फेका तो चावल का गोला बिखरने के बजाय गेंद की तरह उछल गया । जिसे देखकर डीएम सन्न रह गए । दरसल शिकायतकर्ता सुशील कुमार 10 दिन पहले भगवतीगंज गल्ला मण्डी से मक्खन भोग नामक 25 किलो चावल की बोरी खरीद कर लाया था और उसको खाने के बाद उसका और उसके परिवार के लोगो की तबियत खराब हो गयी और वह 3 दिन अस्पताल में भर्ती भी रहा । अस्पताल से घर आकर शंका होने पर चावल को पकवाया तो उसकी शंका सही साबित हुई और पका हुआ चावल लेकर डीएम के सामने पहुच गया । डीएम के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा टीम ने भगवतीगंज में गल्ला व्यापारी की दूकान में छापा मार कर 25 – 25 किलो के मक्खन भोग बोर में रखा चावल बरामद कर चावल को सील करते हुये कई नमूने लिये ।

गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का गुंडा ठाकुर सत्यनारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम,राज्यपाल राम नाइक का संरक्षण ?

चावल के इन बोरो पर न तो चावल बनाने वाली कम्पनी का नाम या दूसरे विवरण लिखा मिला । हद तो तब हो गयी जब खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्यवाही के दौरान जहर का कारोबार करने वाले लोगो के बचाव में कई व्यापारी और उनके नेता इकठ्ठा हो गए और कार्यवाही का विरोघ करते हुये खाद्य सुरक्षा टीम से अभृद् व्यवहार कर मारपीट पर उत्तर आये ।मौके की नजाकत को देखते हुये टीम वहाँ से कार्यवाही कर लौट गयी ।

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़े -