You are here

CM योगी का 24 घंटे बिजली का दावा फेल ,मंत्री ने खोली पोल

लखनऊ .उत्तर प्रदेश को जनता को 24 घंटे बिजली बहाल करने सम्बन्धी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दावों की पोल उनके ही मंत्रिमडल के सहयोगी मंत्री जय प्रताप सिंह ने खोल दिया है . आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को लिखे पत्र में स्पष्ट शब्दों में कहा है कि मंत्री जी बिजली व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है. इससे पहले गुरुवार को पीएम से मुलाकात में सांसदों ने कहा था कि योगी सरकार के कामकाज से परेशान लोग विधायकों और हमारा मजाक उड़ा रहे हैं.

इसे भी पढ़े -क्या बच्चो की तस्कर है BJP सांसद रूपा गांगुली , CID ने भेजा नोटिस,BJP राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय पर भी शामिल होने का आरोप

सनद रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे के सभी जिलों को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का बड़ा फैसला दो महीने पहले लिया था. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा था कि सभी जिला मुख्यालयों में 24 घंटे, तहसील स्तर पर 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली मुहैया कराने के प्रबंध 14 अप्रैल से किए जाएं .योगी ने शास्त्री भवन में ऊर्जा विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया था कि वे ग्रामीण क्षेत्रों में शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक हर हाल में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करें, ताकि परीक्षा में सम्मिलित हो रहे विद्यार्थियों को कोई दिक्कत न हो किन्तु मुख्यमंत्री के इस दावे को उर्जा विभाग ने फुश्श कर दिया है .

इसे भी पढ़े -संत क़े राम राज्य में हर दिन 14 रेप ,13 हत्याएं, 49 अपहरण हुए हैं, विपक्ष ने मांगा इस्तीफा

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को लिखे पत्र में स्पष्ट तौर पर आबकारी एवं मद्य निषेध के कैबिनेट मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि जनपद सिद्धार्थनगर में बिजली आपूर्ति पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है. मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी बिजली आपूर्ति में कोई सुधार नहीं हो पाया है. स्थिति लगातार खराब होती जा रही है. शहर और ग्रामीण क्षेत्रों की बिजली आपूर्ति बाधित होने से सरकार की छवि खराब होती जा रही है.

 

 

 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -