You are here

धार्मिक CM के राज में चल रहा दुर्गा पूजा पंडालो पर प्रशासन का डंडा,लोगो में आक्रोश

लखनऊ .उत्तर प्रदेश में धार्मिक व हिन्दुवाद के कट्टर नेता योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री पद सँभालते ही हिन्दुत्ववादी विचारधारा के लोगो की बांछे खिल गई थी ,अपने भाषणों में भाजपा की सरकार बनाने के बाद अयोध्या में भब्य राम मंदिर निर्माण का सपना दिखाने वाले गोरक्षपीठाधिस्वर योगी आदित्यनाथ से लोगो को आशा थी की अब उत्तर प्रदेश में रामराज्य की परिकल्पना साकार हो जाएगी और राम मंदिर निर्माण प्रक्रिया को लेकर मुख्यमंत्री कोई ठोस कदम उठाएंगे किन्तु इस धार्मिक मुख्यमंत्री पर अब प्रखर हिंदूवादी तानासाह होने का आरोप लगा रहे है .

राजधानी लखनऊ के हिन्दू समाज के लोगो का कहना है कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से हिन्दू समाज को काफी उम्मीद थी किन्तु अब उम्मीद खत्म होती जा रही है .हिन्दू समाज योगी पर तानाशाही का आरोप लगा रहा है .हुआ यू कि लखनऊ के आशियाना में 19 सालों से चल रहे दुर्गापूजा पर प्रशासन द्वारा रोक लगा दी गई है. पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने सोमवार को यहां के दुर्गा पूजा स्थल को सील करा दिया है . पूजा का पण्डाल लगा रहे समिति के पदाधिकारियों व कर्मचारियों को पुलिस द्वारा मार कर भगा दिया गया. इस मामले को लेकर आशियाना क्षेत्र के लोग जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव करने की रणनीति पर विचार कर रहे है .

बताया जाता है कि अशियाना के तिकोना पार्क में पिछले 19 सालों से दुर्गापूजा होती रही है. इस क्षेत्र की यह इकलौती दुर्गा पूजा है. इस पार्क में न तो हरियाली है और न ही कोई पेड़ पौधे लगे हैं. पूरा पार्क खाली है. विगत 10 दिनों से पार्क में दुर्गा पूजा लगाने के लिए यहां पण्डाल बनाया जा रहा था लेकिन सोमवार को आशियाना एसओ, सीओ तथा एसीएम ने इस पार्क को सील करा दिया,यही नहीं पुलिस ने यहां पण्डाल बना रहे कर्मचारियों व मजदूरों को भी लाठी के बल पर खदेड़ दिया. पार्क के एक गेट में ताला लगाकर इसे सील कराया गया जबकि दूसरे गेट का एक हिस्सा टूटा था.जिस गेट को अधिकारियों ने बांस लगाकर इसे बंद करा दिया है . इसके सील होने की जानकारी मिलते ही आशियाना क्षेत्र के तमाम लोग मौके पर पहुंच गये.आशियाना दुर्गा पूजा कमेटी के अध्यक्ष एच एच पटनायक व पूर्व पार्षद राजेन्द्र पाण्डेय सहित तमाम लोग मौके पर आ गये. लोगों ने दुर्गा पूजा को रोकने पर काफी आक्रोश प्रकट किया.उनका कहना है कि इस तरह प्रशासन उन्हें दुर्गा पूजा करने से नहीं रोक सकता है. दुर्गा पूजा हजारों लोगों की आस्था का प्रतीक है. क्षेत्र के लोगों की इससे आस्था जुड़ी है. स्थानीय लोगों ने कहा कि वह इस मामले को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव करेंगे.

दुर्गा पूजा के लिए अनुमति भी नहीं दे रहा प्रशासन :

आशियाना दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष एचएच पटनायक का कहना है कि प्रशासन दुर्गा पूजा के लिए अनुमति भी नहीं दे रहा है. अनुमति के लिए दुर्गा पूजा समिति ने जिलाधिकारी के यहां कई दिनों पहले आवेदन किया है, सभी एनओसी भी दे दी है. इसके बावजूद अनुमति नहीं दी गयी. दो दिन पहले जिलाधिकारी के यहां सभी दुर्गा पूजा कमेटियों की बैठक थी.उसमें भी अनुमति देने की बात कही गयी थी. प्रशासन ने किसी की शिकायत पर अचानक इसे सील कराया है. जिस पार्क में दुर्गा पूजा होती है वह किसी की सम्पत्ति नहीं है . वह सरकारी पार्क है जो कि अविकसित है.
स्थानीय जनो का कहना है कि इस तरह अचानक दुर्गापूजा रोकना सरकारी तानाशाही है. पार्क में पण्डाल लग चुका है. प्रशासन ने कुछ लोगों की शिकायत पर यहां दुर्गा पूजा रोकने के लिए पार्क को सील कराया है. इसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा.

इसे भी पढ़े –

 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -