You are here

पंडित जी द्वारा हुआ गौ हत्या ,खामोश रहे गौरक्षक

लखनऊ .गौ रक्षा के नाम पर देश में एक वर्ग विशेष पर तमाम हमले हुए कई निर्दोष इस हमले में असमय मौत को प्यारे हो गए ,तथाकथित गौ रक्षको की फ़ौज पर अब सवालिया निशान लगा है, गोंडा में जब हिन्दू धर्म और गौरक्षा का पाठ पढ़ाने वाले दो पंडितो ने ही खुले आम अपनी गौ माता पर छुरा चलाकर हत्या कर दी ,गोंडा में हुई गौ हत्या पर किसी हिंदूवादी संघठन व गौ रक्षको के दल ने हो हल्ला नहीं मचाया जिस को लेकर लोगो ने हिंदूवादी दलो पर सवालिया निशान खड़ा किया है .

सनद रहे गोंडामें दो अक्तूबर को गोकशी के मामले में पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया था ,गोकशी की घटना के बाद क्षेत्र में तनाव का माहौल था जिस कारण क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था .

पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह ने इस बावत बताया था कि कटरा बाजार थाना क्षेत्र के भटपुरवा गांव में बीती रात कुछ लोग गणेश प्रसाद दीक्षित की बछिया उनके दरवाजे से खोल ले गए और गांव के बाहर मक्के के खेत में ले जाकर उसका सिर धड़ से अलग कर दिया.बछिया के गायब होने पर लोगों ने उसकी तलाश शुरू की तो गांव के पास ही एक खेत में कुछ आहट मिली. लोगों के पहुँचने पर अभियुक्त मौके से भागने लगे. ग्रामीणों ने तत्काल पुलिस को सूचित किया और मौके से भागते हुए रामसेवक व मंगली को गिरफ्तार कर लिया गया.अभियुक्तों के विरुद्ध गोवध निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में पीएसी और पुलिस बल तैनात किया गया है.

बरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल लिखते है कि ऋग्वैदिक काल में भी तो ब्राह्मण गाय की बलि चढ़ाते थे। अब दीक्षित जी ने गाय काट दी, तो कौन सा अपराध कर दिया। कोई गोरक्षक दीक्षित जी की पिटाई नहीं करेगा। ब्राह्मण के सारे अपराध माफ़ हैं। सज़ा है भी तो मामूली। वे धरती पर भगवान के अवतार है। भूदेव हैं।

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment