You are here

चंदौली : गृह कलह से उब कर महिला ने की खुदकुशी

नौगढ़.स्थानीय थानान्तर्गत ग्राम पंचायत देवखत के कर्माबांध मौजा में बीती रात गृह कलह से उब कर 30 वर्षीय सुनीता ने रस्सी के फंदे से लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। पति ने आनन-फानन में अपनी पत्नी को फंदे से उतार कर घर के समीप खेत में बने मचान पर सुलाकर घर से फरार हो गया।




घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। जिसे शुक्रवार को अन्त्य परीक्षण हेतु भेज दिया। बताया जाता है कि सुनीता का विवाह आज से लगभग 10 वर्ष पूर्व कर्माबांध गांव में भाईराम के पुत्र धीरज यादव से हुई थी और सुनीता को दो लड़कियां भी पैदा हुई। जिसमें बड़ी लड़की 5 साल की व छोटी लड़की ढाई वर्ष की है। शादी के बाद से लगातार पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर तकरार होती रहती थी। शादी के कुछ वर्ष बाद धीरज की नौकरी सी.आर.पी.एफ. के 61वीं बटालियन में लग गयी थी और वर्तमान समय में वह लद्दाख में तैनात था। पिछले एक पखवारे से वह छुट्टी पर घर आया हुआ था। घर आने के बाद से लगातार पति-पत्नी के बीच पुनः तकरार प्रारम्भ हो गयी। घटना के दिन पति-पत्नी के बीच बहस हो रही थी और बहस मार-पीट तक पहुंच गयी। इस बीच पति बाहर घूम रहा था कि पत्नीे गुस्से में आकर रस्सी के सहारे लटक गयी। जिसे देख बच्चों ने चिल्लाना शुरू कर दिया। शोर-गुल सुनकर धीरज घर पहुंचा। देखा कि रस्सी के फंदे से लटकने से पत्नी मृत अवस्था में हो चुकी है। उसने पत्नी को उसी अवस्था में रात के अंधेरें में घर के समीप बने मचान पर लेटा कर चादर से ढक दिया और आनन-फानन में वह दवा लेने के बहाने बाहर गया।



घटना की सूचना गांव में आग की तरह फैल गयी। इस बीच किसी ने इसकी सूचना सुनीता के मायके में दे दी। सूचना मिलते ही उसके पिता भागे-भागे बेटी के घर पहुंचे। जहां बेटी को न देखकर घबड़ा गये और उन्होंने तत्काल इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। सूचना मिलते ही इंस्पेक्टर श्रीप्रकाश गुप्ता मौके पर पहुंच गए और चारों तरफ खोजबीन शुरू कर दी। इसी बीच पुलिस ने घर के समीप बने मचान के पास पहुंचे तो वहां पर ढके चादर को हटाया तो देखा कि एक महिला मृत अवस्था में पड़ी हुई थी। शव मिलने की सूचना मिलते ही पिता की आंख भभक कर रो पड़ी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और धीरज की खोजबीन शुरू की। इस सम्बन्ध मंे सुनीता के पिता जालिम सिंह जो सोनभद्र जिले के देवरी मय देवरा गांव के निवासी है, उन्होंने अपनी लड़की के मौत के लिए दामाद धीरज यादव व उसके भाई रामअवध के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया। पुलिस ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 26/17 498 ए/306 आई.पी.सी. के तहत् मुकदमा पंजीकृत कर कार्यवाही शुरू कर दी। इसके साथ ही पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अन्त्य परीक्षण के लिए भेज दिया। वहीं कई जगह दबीश दी गयी लेकिन धीरज यादव का अता पता नहीं चला।

रिपोर्ट -गौरव कुमार

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -