You are here

पाटीदार आन्दोलन के शेर हार्दिक पटेल के आगे झुकी सरकार,तिंरगे का अपमान करने का आरोप वापस लिया

नई दिल्ली . पाटीदार अनामत आन्दोलन के नेता हार्दिक पटेल को बड़ी जीत मिली है .गुजरात सरकार ने हार्दिक के बिरुद्ध तिंरगे का अपमान करने का आरोप वापस ले लिया है.पाटीदार आन्दोलन के युवा नेता हार्दिक पर करीब दो साल पहले यह आरोप गुजरात के राजकोट जिले में दर्ज हुआ था ..

राजकोट के जिलाधिकारी विक्रांत पांडे ने मीडिया को बताया कि राज्य सरकार से निर्देश मिलने के बाद उन्होंने हार्दिक के खिलाफ मामला वापस लेने का आदेश जारी किया है. विक्रांत ने कहा कि राज्य सरकार से प्राप्त निर्देश के अनुसार हमने हार्दिक और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज मामला वापस ले लिया है.

जिलाधिकारी विक्रांत ने कहा कि हार्दिक के खिलाफ जिले में एक प्राथिमिकी दर्ज की गई थी. इसके आगे की औपचारिकताएं अदालत में पूरी की जाएंगी.हार्दिक के खिलाफ 19 अक्टूबर, 2015 को तिरंगे का कथित रूप से अपमान करने को लेकर मामला दर्ज किया गया था वहीं पुलिस ने बताया था कि जब हार्दिक 19 अक्टूबर को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एकदिवसीय मैच को बाधित करने खंडेरी क्रिकेट स्टेडियम जा रहे थे, तब वह तिरंगे पर कूदे थे. दरअसल जब वह मीडिया को संबोधित करने की कोशिश में कार पर कूदे थे, तब उनका पैर झंडे को छू गया था, उनके हाथ में तिरंगा था.

बताया जा रहा है कि आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव से पूर्व पटेल समाज को खुश करने की रणनीति के तहत हार्दिक पर दर्ज मुकदमे को वापस लिया गया है .सनद रहे भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ पाटीदारों में पनपे आक्रोश की खबर प्रधानमंत्री मोदी को भी है,पटेलो की नाराजगी को लेकर शीर्ष नेतृतव भाजपा के पक्ष में सहानुभूति हेतु ताना बाना बुन रहा है , वही विधान सभा चुनाव में हार्दिक कांग्रेस के पक्ष में खड़े दिख रहे है .

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -