You are here

रावण की जमानत मंजूर ,जस्टिस मुख्तार अहमद ने गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित मानते हुए जमानत मंजूर किया

नई दिल्ली .सहारनपुर जातीय हिंसा मे आरोपी बनाकर जेल भेजे गए भीम आर्मी मुखिया चंद्रशेखर आजाद उर्फ़ रावण को अब जमानत मिल गई है. उन्हे उत्तर प्रदेश पुलिस ने जून में गिरफ्तार किया था. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चंद्रशेखर को दंगे से जुड़े सभी चार मामलों में जमानत दे दी है.
जस्टिस मुख्तार अहमद की बेंच के निर्णय में खास बात ये रही कि उन्होंने भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर रावण और डिप्टी चीफ कमल वालिया की गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित मानते हुए जमानत अर्जी मंजूर की है.

चंद्रशेखर उर्फ़ रावण को एक अन्य मामले में सेशन कोर्ट से पहले ही जमानत मिल चुकी है. भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने चंद्रशेखर के इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया था.हालत में सुधार ना होने पर जेल प्रशासन ने उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया. तबीयत में कुछ सुधार होने के बाद पुनः चंद्रशेखर को जेल में शिफ्ट कर दिया, मगर उनकी हालत फिर से बिगड़ने लगी थी. भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने चंद्रशेखर को बेहतर इलाज एवं कड़ी सुरक्षा प्रदान करने की मांग की थी.

सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के मामले में दलितों की ओर से गैर दलित पक्ष पर 25 मुकदमे दर्ज कराये गए थे. जिसके जवाब में भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर रावण सहित कई अन्य के खिलाफ क्रास एफआईआर में 10 मुकदमे दर्ज कराये गए थे.इनमें से 6 में भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर रावण और डिप्टी चीफ कमल वालिया को भी आरोपी बनाया गया है. चन्द्रशेखर रावण और डिप्टी चीफ कमल वालिया दोनों सहारनपुर जेल में बन्द हैं.

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -