You are here

36 करोड़ के किसान कर्जमाफ़ी के बदले सर्टिफिकेट बांटने पर 16 करोड़ खर्च करेगी योगी सरकार

लखनऊ .उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ के बाद अन्य जिलो के किसानो को कर्जमाफी के सर्टिफिकेट जल्द बांटे जाने की योजना पर काम कर रही है .किसानो को कर्ज माफ़ी के इन सर्टिफिकेट्स को बांटने पर योगी आदित्य नाथ की सरकार 16 करोड़ रुपए खर्च करने जा रही है. सोमवार को मुख्य सचिव राजीव कुमार ने आदेश जारी किया जिसमें कहा गया है कि यूपी सरकार 75 जिलों और 332 तहसील में कैंप का आयोजन करेगी.इन कैम्पों के जरिए किसानों को कर्जमाफी के सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे.



सनद रहे उत्तर प्रदेश सरकार 86 लाख किसानों का 36 करोड़ रुपए का कर्जमाफ कर रही है. सूबे में किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट बांटने का काम पिछले हफ्ते लखनऊ से शुरु हो गया है जहां पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटे जिसमें 35 लाख रुपए का खर्चा हुआ था.
मुख्य सचिव द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 5 सितंबर से किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे. जिस कैंप में योगी आदित्यनाथ 5 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटेंगे, इस कैम्प पर 10 लाख रुपए का खर्चा होगा. प्रत्येक तहसील में 2 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे जिसमें ढाई लाख रुपए का खर्चा आएगा. सरकार का कहना है कि कर्जमाफी की राशि की तुलना में कैंप में लगने वाली राशी बहुत ही मामूली है.


सनद रहे विधानसभा के चुनाव में किसान कर्ज माफ़ी भी भाजपा का मुख्य मुद्दा था और भाजपा ने वादा किया था कि अगर उनकी सरकार बनती है तो वे किसानों का कर्ज मांफ करेंगे. उत्तर प्रदेश सरकार की कमान सँभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने अपना वादा निभाते हुए किसानों का कर्ज मांफ करने का ऐलान कर दिया था.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -