You are here

लो अब नीम के पेड़ में सपरिवार निवास कर रहे भोलेनाथ !

नई दिल्ली .झारखंड के गुमला में के सोसो मोड़ के समीप भलदमचट्टी में अत्यंत प्राचीन नीम के पेड़ से दूधिया द्रव के लगातार हो रहा रिसाव लोगों में कौतूहल का विषय बन गया है. पेड़ से दूधिया द्रव के बहने को ब्राह्मणवादी लोगो ने भोलेनाथ का निवास कह कर प्रचारित करना प्रारंभ कर दिया जिसके कारण आस्था और चमत्कार का प्रभाव मानकर लोग दर्शन के लिए दौड़े चले आ रहे हैं.



भगवांन का निवास इस पेड़ में होने सम्बन्धी चर्चा के बाद से ही आस्था और भक्ति से सराबोर स्थानीय लोग इसे ईश्वरीय चमत्कार की संज्ञा देते हुए पूजा पाठ ,चढ़ावा चढ़ाना शुरू कर चुके हैं.

इसे भी पढ़े -गोमांस का धंधा कर रहे कुछ ब्राह्मण , पिट रहे दलित और मुसलमान

प्राकृतिक कारणों से पेड़ से दूध निकलता देख लोग चकित हो रहे हैं, दूध की धार कभी तेज हो जा रही है तो कभी मद्धिम होकर फेन की शक्ल में टपकने लग रहा है. लोग चम्मच व अन्य पात्रों में दूधिया द्रव को इकट्ठा कर उसको चखा और बताया कि उक्त ढूध का स्वाद नारियल के पानी जैसा है.आडम्बरो पर विस्वास करने वाले लोगो का दावा है कि पेड़ से अलग किस्म की धुन निकल रही हैं।.प्राचीन नीम के उस पेड़ के ऊपर पीपल व बरगद के छोटे पेड़ भी उगे हुए हैं, स्थानीय लोगों का कहना है कि यह भोले बाबा का चमत्कार है.



गांव की सुमति देवी के अनुसार उसके स्वप्न में भोले बाबा ने आकर उसे बताया कि वहां पर पूरे शिव परिवार के साथ वे स्वयं विराजमान हैं,सुमति कहती हैं कि भोले बाबा ने स्वयं ही उसे पूजा करने का निर्देश दिया है. वहीं प्रभु उरांव की पत्नी ने खुद भी स्वप्न में शंकर भगवान के दर्शन और यही संदेश प्राप्त होने की बात बता कही है.गांव के राकेश सिंह, धरमू गोप, मुकेश गोप, अघन प्रधान, शिशु गोप, दिनेश गोप, महेश गोप, राजेन्द्र उरांव, प्रदीप प्रधान व जेरकु गोप समेत अन्य लोग इसे ईश्वर की साक्षात कृपा मानते हुए यहां पर भोले बाबा का निवास होने का दावा कर रहे हैं.

इसे भी पढ़े -दलितों ,पिछड़ो के लिए नजीर बनी 8 साल की उम्र में शादीशुदा हो चुकी रूपा यादव

इन दावों में कितनी सच्चाई है यह तो जांच में पता चलेगा किन्तु आडम्बरो पर विश्वास करने वाले लोग दैवीय चमत्कार मानकर उस क्षेत्र की घेराबंदी करके पूजा पाठ व चढ़ावा जारी रखने की योजना बना रहे हैं.फिरहाल वह जमीन इसाई धर्म के लुथेरन मिशन की बताई जा रही है .उक्त सम्बन्ध में एक बोर्ड भी वहां पर लगाया गया है.

फिरहाल कुछ लोगो का कहना है कि उक्त जमीन लुथेरन मिशन की होने के कारण कुछ लोग एन केन प्रकारेण उक्त जमीन पर कब्ज़ा करना चाहते है

वही सुनिता नामक महिला का कहना है कि नीम के पुराने पेड़ों से ताड़ी जैसा पदार्थ गिरता है ,यह नई बात नहि है दूध का गिरना कोरा अफ़वाह ब्रहमनो दवरा फैलाया जा रहा है .

श्रोत -मीडिया रिपोर्ट

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -