You are here

उन्नाव:मनरेगा के अंतर्गत हुए भ्रष्टाचार की शिकायत पर जाँच करने पहुंची विकास विभाग की टीम

बीघापुर ,उन्नाव। विकासखंड की ग्राम सभा मगरायर में बुधवार को मुख्य विकास अधिकारी के आदेश पर जिला उपायुक्त मनरेगा व डीआरडीए के सहायक अभियंता की टीम ने पिछले दिनों ग्रामीणों द्वारा की गयी शिकायती विकास कार्यों की स्थली जांच की तथा भुगतान के अभिलेखों को कब्जे में लिया।

ग्राम पंचायत मगरायर में पिछले वर्ष मनरेगा के तहत रमसगरा तालाब की खुदाई वह सुंदरीकरण तथा शिवदीन खेड़ा से बड़ा तालाब तक नाले की सफाई की स्थलीय जांच जिला उपायुक्त मनरेगा शेषमणि सिंह व डीआरडीए के सहायक अभियंता इनायत करीम ने की।

ग्रामीण संजीव मिश्रा, सिद्ध किशोर, बबलू पांडे आदि द्वारा मुख्य विकास अधिकारी से उत्तर दोनों कार्यों में लाखों रुपए की ग्राम प्रधान, पंचायत अधिकारी व तकनीकी सहायक द्वारा बिना काम किए लोगों के खातों में मनरेगा मजदूरी डालकर लाखों रुपए की हेराफेरी की शिकायत की थी ।सीडीओ के आदेश पर दोनों अधिकारियों ने मौके पर जाकर नाप-जोख कराई तथा मजदूरों के बयान दर्ज किए। इन दोनों कारणों के भुगतान के मस्टररोल व अन्य जरूरी अभिलेख अधिकारियों ने अपने कब्जे में ले लिए। जिला उपायुक्त मनरेगा ने बताया कि मुख्य शिकायतकर्ता संजीव मिश्रा ने जान माल का खतरा बताकर मौके पर आने से इंकार कर दिया ।

उन्होंने बताया की स्थली जांच में कार्य कराए गए हैं अब तकनीकी रिपोर्ट से ही पता चलेगा जितना कार्य कराया गया है उससे अधिक भुगतान हुआ है कि नहीं ।वह अपनी जांच रिपोर्ट शीघ्र ही सीडीओ को सौंप देंगे।

रिपोर्ट:डॉ.मान सिंह

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -