You are here

कांग्रेस की रैली में उमड़ा जनसैलाब ,खबर घोट गई गोदी मीडिया

नई दिल्ली .भाजपा का शीर्ष नेतृत्व व खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात चुनाव को लेकर बेहद परेशान है ,इनकी परेशानी का सबसे बड़ा कारण गुजरात की आवाम में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी को मिल रहा व्यापक सर्थन है .गुजरात चुनाव में अपना बर्चस्व बरकार रखने हेतु भजपा ने दलित ,पिछड़े समाज के लोकप्रिय यूवा नेताओ को धन के बल पर खरीदने का ताना बना बुना किन्तु वह अपने ही ताने -बाने में फस गई ,उसकी खरीददारी का भंडाफोड़ हो गया ,ख़रीदे गये नेताओ ने भाजपा की करतूत को सार्वजनिक कर दिया जिस कारण गुजरात की जनता के बीच भाजपा की थू -थू होने लगी .

भाजपा के गढ़ गुजरात में कांग्रेस तेजी से पाँव पसार रही है ,गांधीनगर में हुई राहुल और अल्पेश ठाकोर की रैली को जबरदस्त जन समर्थन मिला. यह पहला मौका था जब गुजरात में राहुल की रैली में इतनी बड़ी तादाद में भीड़ उमड़ी हो. इसके पहले राहुल ने बिहार, उत्तर प्रदेश में भी चुनाव प्रचार किया, लेकिन उनकी किसी भी रैली में इतनी भारी भीड़ नहीं उमड़ी थी किन्तु गोदी मीडिया उमड़े इस जनसैलाब की खबर को घोट गई ,गुजरात के लोग कहने लगे कि मीडिया पर भी तानासाह का बर्चस्व है .

गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ,पिछड़े समाज के नेता अल्पेश ठाकोर व दलित नेता जिग्नेश स्वामी के संघ मुक्त ,भजपा मुक्त गुजरात के नारे व कांग्रेस को समर्थन की अटकलों के बाद भाजपा केन्द्रीय नेतृत्व के माथे पर पसीने की बूदे टपकने लगी ,इन नेताओ ने लगातार भाजपा को सबक सिखाने हेतु मोर्चा खोल रखा है .

भाजपा नेताओ ने बड़े सर्थन वाले इन नेताओ को कम्जूर करने की रणनीति पर काम किया जिस कारण रुपयों के दम पर इन नेताओ के करीबियों डोरा डालना प्रारंभ किया कुछ नेताओ ने भाजपा के बोली को स्वीकार कर इनके मंसूबो को गुजरात की जनता के समक्ष रखने की रणनीति पर अमल कर भाजपा की बोली को स्वीकार कर लिया ,इन नेताओ ने भाजपा द्वरा बुने जाल में खुद को फसा दिखाकर इनके सपने को चकनाचूर कर दिया .

जिस कारण भाजपा में शामिल हुए पाटीदार आंदोलन के नेता भी अब पार्टी से किनारा कर रहे हैं. कुछ दिन पहले भाजपा में शामिल हुए पाटीदार नेता निखिल सवाणी ने जैसे ही भाजपा छोड़ने का ऐलान किया भाजपाई सकते में हां गये वही पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल ने भाजपा पर यह आरोप लगाया था कि उन्हें एक करोड़ रूपए देकर भाजपा में शामिल होने कहा गया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि भाजपा पाटीदारों की खरीद फरोख्त कर रही है.

फिरहाल भाजपा अपने गढ़ को बचाने के लिए पूरा जोर लगा रही है. आने वाले कुछ दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई बड़े नेता गुजरात में रैली करने वाले हैं. ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि गुजरात का वोट किसकी झोली में जाता है.

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -