You are here

नीतीश कुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले पर सुप्रीम कोर्ट ने ठोका 1 लाख का जुर्माना

पटना .बिहार के लोकप्रिय व सादगी पसंद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रशंसकों के लिए अच्छी और गर्व करने वाली खबर है. सुप्रीम कोर्ट में एक याचिकाकर्ता ने पीआईएल दाखिल कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को फिजूल का बताते हुए याचिकाकर्ता पर ही 1 लाख का जुर्माना ठोक दिया.

महंत आदित्यनाथ की तो शिक्षा-दीक्षा ही मनुस्मृति पर आधारित है!

 

सुप्रीम कोर्ट ने नीतीश कुमार पर करप्शन का आरोप लगाने वाली याचिका को फ़िज़ूल की व कोर्ट का समय ख़राब करने वाली याचिका बताते हुए याचिककर्ता पर 1 लाख का जुर्माना बरकरार रखा है. कोर्ट में याचिककर्ता ने पुनर्विचार याचिका दायर की थी जिसे खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 1 हफ्ते के अंदर जुर्माना देने का आदेश दिया है.

फर्जी गो रक्षको के लिए सीख है गायों के भगवान जफरुद्दीन

 

दरअसल मिथिलेश कुमार ने पिछले साल स्लीपर घोटाले में करप्शन का आरोप लगाते हुए सीबीआई  जांच की मांग के साथ एक याचिका सुप्रीम कोर्ट  में दाखिल की थी. सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ख़ारिज करने के साथ-साथ याचिकाकर्ता को बेवजह अदालत का कीमती वक्त बर्बाद करने के लिए 1 लाख का जुर्माना भी लगाया था. जिसके बचाव के लिए याचिकाकर्ता ने पुनर्विचार याचिका डाली दी. आज सुप्रीम कोर्ट ने उसे भी खारिज कर दिया.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -