पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन का ऐलान, 12 जुलाई को बंद रखेंगे पेट्रोल पंप

नई दिल्ली. केंद्र की मोदी सरकार द्वरा 31 जुलाई रात 12 बजे जीएसटी लागू किया. इसे लागू करते वक्त और पहले से भी सरकार ने तमाम तरह के फायदे गिनाते हुए एक देश एक कर की नीति को प्रचारित किया हालांकि केंद्र की एनडीए सरकार को देश के व्यापारियों के भारी विरोध का सामना भी करना पड़ा लेकिन जीएसटी बड़े धूमधाम से लागू कर दिया गया. अब पेट्रोल पंप संचालकों को इससे दिक्कत हो रही है. उनका कहना है कि पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे से बाहर रखने पर उन्हें नुकसान हो रहा है.

इसे भी पढ़े -रायबरेली :मारे गए हमलावरों को अपराधी कहते ही स्वामी प्रसाद मौर्य बने ब्राह्मण संगठनो के दुश्मन

मध्य प्रदेश के सिंगरौली में जिला पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष पुष्पराज सिंह के अनुसार सिंगरौली-ऑल इंडियन पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने अपनी मांगों को लेकर एक दिन की हड़ताल करने का आह्वान किया है. इसके लिए एक ज्ञापन जिला कलेक्टर को भी भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़े -मोदी-मोदी’ चिल्लाने वाले ढीठ लोग पहुंचा रहे नुकसान

उन्होंने कहा कि पेट्रोल डीजल की कीमत में रोजाना बदलाव होने के कारण डीलर्स को घाटा उठाना पड़ता है. साथ ही उन्होंने बताया कि उनके पास दो से तीन दिन में पेट्रोलियम पहुंच पाता है. जब तक पेट्रोल डीजल के रेट में तीन बार बदलाव हो चुका होता है. ऐसे में उन्हें घाटा उठाना पड़ता है.

इसे भी पढ़े -योगी राज : बसपा सोच के आरोप में दलित आईएएस अधिकारी हुए किनारे

सनद रहे 16 जून से देश में पेट्रोल और डीजल के दाम हर रोज बदल रहे हैं. इसे लेकर दूरदराज के पेट्रोल पंप संचालकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. सिंगरौली ऑल इंडियन पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने अपनी तीन मांगों के साथ 12 जुलाई को नो परचेज नो सेल दिवस मनाने का निर्णय किया गया है.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading...


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment