You are here

भाजपा की गिर रही लोकप्रियता से संघ चिंतित ,मंथन हेतु भोपाल में अखिल भारतीय कार्यकारी की बैठक

नई दिल्ली .बिगत लोकसभा चुनाव में हिन्दुत्व ,राम मंदिर निर्माण ,बेरोजगारी खत्म करने जैसे मुद्दों को लेकर भाजपा ने केंद्र की सत्ता पर कब्ज़ा कर लिया ,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने अपने वादों को अमलीजामा पहनाने में असफल रही ,जिस कारण देश से रोजगार घटा और केंद्र के कुछ फैसलों का असर रहा कि भारत की अर्थव्यवस्था निचले पायदान पर पहुच गई .मोदी सरकार के बिरुद्ध आर एस एस के अनुसांगिक संघठन भारतीय मजदूर संघ समेत एनडीए के घटक दल सरकार पर वडा खिलाफी का आरोप खुले मंचो से लगा रहे है .आरएसएस की हाल ही में वृंदावन मथुरा में संपन्न हुई समन्वय बैठक में भी इस पर बात हुई थी. बैठक में भारतीय मजदूर संघ और स्वदेशी जागरण मंच ने आर्थिक मोर्चे पर सरकार की विफलता को लेकर चिंता जाहिर की थी. इस बैठक में कई संगठनों ने देश में बढ़ती बेरोजगारी पर मोदी सरकार के आर्थिक फैसलों पर सवाल उठाये थे. इस बैठक में उपजे सवालो के बाद से ही संघ की चिंता जगजाहिर है .बताया जाता है कि गुजरात चुनाव व आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा की साख बचाए जाने पर संघ में मंथन का दौर चल रहा है ,देश के मतदाताओं की भाजपा के प्रति नाराजगी को दूर करने की रणनीति पर संघ काम कर रहा है .

आरएसएस की तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी की बैठक पुनः मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 12 अक्टूबर से होने वाली है . इस बैठक से पांच दिन पहले ही संघ प्रमुख मोहन भागवत यहां पहुंच चुके हैं. तीन दिवसीय इस बैठक में संघ के कार्यक्रम, आगामी कार्यक्रमों पर विचार के साथ ही देश की वर्तमान परिस्थितियों पर चर्चा होगी. संघ की ओर से जारी आधिकारिक जानकारी के अनुसार अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक 12 अक्टूबर से 14 अक्टूबर तक भोपाल के केरवा डेम क्षेत्र में स्थित शारदा विहार आवासीय विद्यालय में होगी.

संघ के मध्य भारत प्रांत के प्रचार प्रमुख दीपक शर्मा के मुताबिक इस तीन दिवसीय बैठक में देश भर से 300 प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की संभावना है,बैठक की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. बैठक में संघ के कार्य का लेखा-जोखा, संघ के आगामी कार्यक्रम और देश की वर्तमान परिस्थितियों पर विचार-विमर्श किया जाएगा.

संघ की तीन दिवसीय बैठक से पांच दिन पहले शनिवार को ही संघ प्रमुख मोहन भागवत भोपाल पहुंच चुके हैं. उन्होंने अब तक संघ के प्रमुख पदाधिकारियों से तो चर्चा की ही साथ ही रविवार को वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी से भी उनकी मुलाकात हुई. आने वाले दिनों में कई और नेताओं के यहां पहुंचने की संभावना है.इस बैठक में संघ के सभी अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियो के पहुचने की भी संभावना है . वे देश के हालात व केंद्र सरकार के नोटबंदी जैसे फैसले पर बन रहे जनमानस का ब्योरा देंगे.
फिरहाल संघ ने इसे सामान्य बैठक करार देते हुए कहा है कि संघ की प्रतिवर्ष दो बार मार्च और अक्टूबर में कार्यकारी मंडल की बैठक होती है.

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment