You are here

तथ्य छिपाकर नौकरी हासिल करने वाले ठाकुर सूर्य प्रकाश सिंह के बिरुद्ध मुकदमा दर्ज करने की मांग

बीघापुर,उन्नाव।.विकास खण्ड में मनरेगा सोशल आॅडिट कोआर्डिनेटर की नियुक्ति जिला उपायुक्त मनरेगा की जाँच में अवैध पायी गई.शिकायतकर्ता ने तथ्य छिपाने के आरोप में कोआर्डिनेटर के विरुद्ध जिलाधिकारी से एफआईआर करने की माँग किया गया है.

उन्नाव जनपद के बीघापुर विकास खण्ड की ग्राम पंचायत अकवाबाद के नमोनारायण स्वामी उर्फ देव दत्त मिश्र ने 10 अक्टूबर 2017 को जनसुनवाई के तहत जिलाधिकारी उन्नाव के समक्ष शिकायत दर्ज की थी कि उनके गाँव के प्रधान पति सूर्य प्रकाश सिंह उर्फ नाना ब्लाक मनरेगा सोशल आॅडिट कोआॅर्डिनेटर के पद पर अपने विरुद्ध दर्ज मुकदमों को छिपा कर अवैध नियुक्ति करा ली है.

शिकायत पर जिलाधिकारी ने मामले की जाँच जिला उपायुक्त मनरेगा शेषमणि सिंह को सौपी थी.जाँच अधिकारी ने मामले की जाँच कर जिलाधिकारी को 3 नवम्बर को अपनी जांच रिपोर्ट सौपते हुए जाँच आख्या में स्पस्ट किया कि कोआर्डिनेटर के पद पर सूर्य प्रकाश सिंह की नियुक्ति न्याय संगत नहीं है .

उन्होंने अपनी आख्या में यह उल्लेख किया कि सूर्य प्रकाश सिंह पर अकवाबाद के प्रधान रहते हुए 2009 में बीघापुर थाने पर केस दर्ज है जो अदालत के विचाराधीन है, अतः कोआर्डिनेटर पद पर चयन मानकों में पुलिस में आवेदक के खिलाफ किसी भी प्रकार के केस दर्ज न होने की बाध्यता थी. ब्लाक कोआर्डिनेटर सूर्य प्रकाश सिंह ने तथ्य को छिपा कर नौकरी हासिल किया है.

शिकायतकर्ता ने मामले में पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी को पत्र भेज कर कोआर्डिनेटर द्वारा तथ्य छिपा कर किए गए अपराध के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने की माँग किया है.

रिपोर्ट: डॉ. मान सिंह

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -