You are here

उन्नाव:नहीं रुकने का नाम ले रही चोरियां,एक साथ तीन घरों को बनाया चोरों ने निशाना


??एक महीने में एक दर्जन हुईं चोरी की घटनाएं
??एक का भी अब तक खुलासा नहीं
??पुलिस पर दलालों व मठाधीशों के साथ सक्रिय रहने का आरोप

बीघापुर,उन्नाव।थाना क्षेत्र की ग्राम सभा ओसियाँ में चोरों ने एक ही रात में तीन घरों में चोरीयाँ की और लाखों का माल पार कर ले गये । गाँव के हरीशंकर पुत्र० लल्ला दीछित के घर से 12 हजार ₹ की नगदी ले जा पाये जबकि बृज किशोर उर्फ़ बाबू मिश्रा पुत्र० जागेश्वर मिश्रा के घर छत से आये चोरों ने 60 हजार ₹ नगद व अस्सी हजार ₹ के लगभग जेवर जिसमें हार , बेंदी , पायल, तथा दो अँगूठी चोर उड़ा ले गये और हाथ आया बाकी का समान कपड़े आदि पास के ही एक खेत में छोड़ कर भाग गये। बाबू मिश्रा ने बताया कि चोर बेटी अनामिका के स्कूली दस्तावेज भी उठा ले गये चोरों ने बक्से को किसी राड से खोला था ताला लटका का लटका ही रह गया ।

सीताराम पुत्र० महावीर कुशवाहा जो की कई वर्षों से विलासपुर ( छ० ग०) में परिवार सहित रहकर मजदूरी करते हैं और यहाँ घर में ताला ही लगा रहता है, सुबह जब पड़ोस में रहने वाली उनकी चाची पानी भरने के लिये कुएं पर आई तो देखा की सीताराम के घर का ताला टूटा पड़ा है वो घबरा कर घर की ओर भागी देखा तो अन्दर का भी ताला टूटा हुआ है,और सामान सब बिखरा पड़ा है। हरीशंकर व बाबू मिश्रा का परिवार लगभग 12 बजे तक तो जागता ही रहा जैसा की वे बता रहे हैं, चोरों ने घटना को अन्जाम उसके बाद ही दिया है सुबह जब करीब 5 बजे परिवार के सदस्य जागे तो देखा सारा समान गायब है बाबू मिश्रा खेती करते है हरिशंकर गॉव की ही पेट्रोल पंप पर पान की छोटी सी दुकान चलाते है उक्त स्थान पर खड़े पास पड़ोस के लोगों ने पुलिस पर भारी नरीजगी जताते हुये बताया कि डायल 100 नम्बर की गाड़ी गस्त के दौरान कभी गाँव ते अन्दर नही आती है, बाहर ही बाहर आकर वापस चले जाते हैं,गौरतलब यह है कि हरीशंकर के चाचा श्रीप्रकाश दीक्षित उर्फ़ बढ़कऊ के यहाँ अभी पिछले महिने ही चोरी हुई थी, जिन्होने गाँव के ही दो लड़कों पर आशंका व्यक्त करते हुए पुलिस को तहरीर दी थी,पर उन पर आज तक पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की।
थाना अध्यक्ष मनोज कुमार मिश्रा ने घटना के शीघ्र खुलासे की बात कही है।

थाना क्षेत्र में पिछले एक महीने से हो रही ताबड़तोड़ चोरी की घटनाओं से जनता में भयंकर आक्रोश पुलिस के प्रति बढ़ रहा है।लोगों का कहना है कि पुलिस कार्यवही के बजाय समाज के दलालों व मठाधीशों के यहां आवभगत करने करने में व्यस्त रहती है।उसे क्षेत्र में हो रही घटनाओं से कोई लेना देना नहीं है।

रिपोर्ट:डॉ.मान सिंह

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

loading…




इसे भी पढ़े -