You are here

अखिलेश यादव के युवा कैबिनेट के 7 साथी बर्खास्त

समाजवादी पार्टी में मचा घमासान अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है ,चाचा और भतीजे की जंग जारी है और उस जंग के कोपभाजन हो रहे है एक दूसरे के
समर्थक । समाजवादी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने तीन विधान परिषद सदस्यों के साथ पार्टी के यूथ विंग के चार अध्यक्षों को छह वर्ष के लिए पार्टी से बाहर कर दिया है।
शिवपाल सिंह यादव ने आज जिन सात नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है, यह सभी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की युवा कैबिनेट के अहम् नेता है|
उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पद दोबारा संभालते ही शिवपाल यादव ने पहले तो राम गोपाल यादव के भांजे को पार्टी से बाहरका रास्ता दिखाया वहीं आज एक बड़ी कार्रवाई के तहत सपा के यूथ विंग के सात अध्यक्षों को बर्खास्त कर दिया।
बताया जा रहा है कि इन सभी के खिलाफ कार्रवाई तीन दिन पहले ही पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव के निवास पर जाने के साथ ही आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर हुई है। विधान परिषद सदस्य आनंद भदौरिया, सुनील सिंह यादव ‘साजन’ व संजय लाठर के साथ समाजवादी पार्टी यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष मोहम्मद एबाद, प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी युवजन सभा बृजेश यादव, राष्ट्रीय अध्यक्ष यूथ ब्रिगेड गौरव दुबे तथा प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी छात्रसभा दिग्विजय सिंह देव को पार्टी से छह वर्ष के लिए बर्खास्त किया गया है।
इनमें भी विधान परिषद सदस्य आनंद भदौरिया तथा सुनील सिंह साजन को एक बार पहले भी बर्खास्त किया गया था। इन सभी को प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का बेहद खास माना जाता है। इससे पहले इनको राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने बर्खास्त किया था, लेकिन सीएम अखिलेश यादव के अड़ जाने के कारण दो दिन बाद ही आदेश वापस हो गया था। इसके बाद भदौरिया व साजन विधान परिषद सदस्य बने थे।

इसे भी पढ़े -