You are here

ममता बनर्जी का बाल पकड़ कर दिल्ली से निकाल सकते थे- भाजपा अध्यक्ष





नई दिल्ली . नोटबंदी को लेकर संसद से लगायत सड़क तक सियासी संग्राम महासंग्राम जारी है. इस मुद्दे पर सरकार और विपक्ष के जुबानी जंग भी जोड़ों पर हैं और कांग्रेस के युवराज ने यहाँ तक कहा है की संसद में हमें बोलने से रोका जा रहा है .केंद्र की सत्तारूढ़ भाजपा और उसके नेता महिलावो के सम्मान की बात खुले मंच से तो करते है किन्तु भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के एक बयान ने यह साबित कर दिया है कि भाजपा नेतावो की कथनी और करनी में कितना अंतर है.
पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने नोटबंदी का विरोध करने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.पर निशाना साधा और कहा कि एक मुख्यमंत्री इस तरह के शब्द प्रधानमंत्री के लिए इस्तेमाल करती हैं वो ठीक नहीं है. जब वो दिल्ली में नाटक कर रही थीं हम चाहते तो उनका बाल पकड़ के निकाल सकते थे. दिल्ली में हमारी ही पुलिस काम कर रही है .
भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के इस बयान के बाद सियाशी परा चढ़ गया और पलटवार करते हुए टीएमसी के डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा राजनीति में नई गिरावट- थ्रर्ड क्लास पॉलिटिक्स. ममता बनर्जी के खिलाफ खतरनाक, धमकी भरा और व्यक्तिगत आरोप लगाए गए हैं.
सनद रहे ममता बनर्जी नोटबंदी के फैसले के खिलाफ पूरे देश में रैली कर रही हैं कर मोदी सरकार को उखाड़ फेकने की जनता से अपील कर रही है .

इसे भी पढ़े -