You are here

मुख्यमंत्री योगी पर पीएम मोदी का नियंत्रण

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मिले प्रचंड बहुमत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बड़ा जोखिम लेते हुए कट्टर हिन्दूवादी छवि के नेता योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया है.प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए यह बड़ा जोखिम इसलिए भी है क्योंकि योगी आदित्यनाथ अब तक भाजपा की तरफ से गोरखपुर और पूर्वांचल में बड़े नेता माने जाते रहे हैं.

जब शनिवार 18 मार्च को ये साफ हुआ कि भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम बनेंगे तो ये बहस चल पड़ी कि उनका चयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मर्जी से हुआ है या बिना मर्जी से? इस सवाल से जुड़ी तमाम अटकलबाजियों के बीच पता चला की भाजपा उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री का ताज कैडर के कार्यकर्ता के सर पहनाना चाह रही थी.

जिसमे प्रदेश महामंत्री स्वतंत्र देव सिंह अव्वल थे किन्तु एक राजपूत मंत्री एव सहयोगी दल की मंत्री के बिरोध और झगड़े के कारण गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ के सर मुख्यमंत्री का ताज पहना कर नरेन्द्र मोदी और अमित शाह ने अपने सतरंजी चाल से एक तीर से दो निशाने लगाए है ,लाल कृष्ण आडवानी ,मुरलीमनोहर जोशी ,बिनय कटियार सरीखे नेताओ को किनारे लगाने के बाद भाजपा में कुछ और नेताओ को किनारे लगाने की अंदरूनी तैयारी होना बताया जा रहा है ,मजबूरी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ पर प्रधानमंत्री अपना शिकंजा रखेंगे ऐसा भी बताया जा रहा है बताया जाता है की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योगी आदित्यनाथ पर सीधी नजर रखने के लिए अपने एक खास नौकरशाह को नियुक्त किया है.

इस नौकरशाह का काम प्रधानमंत्री कार्यालय और आदित्यनाथ सरकार के बीच समन्वय बनाना है या यह कह लीजिए कि योगी आदित्यनाथ पर नजर रखना है. ये नौकरशाह कोई और नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रमुख सचिव नृपेंद्र मिश्रा हैं. जब साल 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे तो उन्होंने यूपी कैडर के आईएएस नृपेंद्र मिश्रा को केंद्र में बुलाया था.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नृपेंद्र मिश्रा प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के बीच संपर्क सेतु होंगे. माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश प्रशासन में सभी प्रमुख नियुक्तियां मिश्रा से चर्चा करने के बाद ही होंगी.

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और जी प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -