You are here

शराब बंदी में पूरा देश हमारे साथ –नीतीश


पटना .बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने सड़क हादसों के मद्देनजर सभी हाइवे के किनारे शराब की दुकानों को बंद करने का एतिहासिक फैसला दिया है. इससे जाहिर होता है कि देश भी अब शराबबंदी के हमारे निर्णय के साथ होने लगा है. शराबबंदी के बाद सड़क हादसों से होनेवाली मौत में भी भारी कमी आयी है.
जनता दल यू अध्यक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को मधेपुरा के बीएन मंडल स्टेडियम में आयोजित चेतना सभा को संबोधित कर रहे थे. सभा में भारी संख्या में लोगों की मौजूदगी से उत्साहित नीतीश कुमार ने कहा कि पहले से बेहतर और सुंदर कोसी बनाने का वादा हर हाल में पूरा करेंगे. इसमें थोड़ा वक्त जरूर लग रहा है, लेकिन जब कोसी बन कर निखरेगा, तब इसकी मिसाल पूरा देश देगा. सात निश्चय के तहत शुरू किये गये कार्यक्रम इंद्रधनुष की तरह रंग बिखेरने लगे हैं. कोसी सहित पूरे बिहार की खुशबू से विश्व सराबोर हो कर रहेगा. चार साल के भीतर बिहार के हर घर में नल का जल होगा, शौचालय होंगे, पक्की गलियां और नालियां होंगी.लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम मेरे 10 वर्षों के अनुभव का निचोड़ है. लोगों के जो काम पिछले 36 साल में नहीं हुए.वे सिर्फ आठ दिनों में हो रहे हैं. जमीन की रसीद नहीं मिलने, बिजली के अधिक बिल आने आदि जैसी समस्या का समाधान हो रहा है. गत पांच जून से अब तक 70 हजार से ज्यादा शिकायतों का निबटारा किया जा चुका है.




मुख्यमंत्री ने कहा कि चेतना सभा का उद्देश्य सात निश्चय के तहत किये जानेवाले काम, शराबबंदी और लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के बारे में जानना और लोगों को बताना है. हर अनुमंडल और जिला मुख्यालय में इसके लिए केंद्र की स्थापना की गयी है. अगर समय पर इन केंद्रों में निर्णय नहीं होते हैं, तो संबंधित अधिकारी को जुर्माना किया जायेगा अगर इसके बाद भी अगर काम नहीं होता है, तो उस अधिकारी को नौकरी से निकाला जा सकता है.
अंत में मुख्यमंत्री ने 21 जनवरी को पूरे राज्य में नशाबंदी के पक्ष में मानव शृंखला बनाने की अपील की. कहा कि इतनी बड़ी मानव शृंखला बनाएं कि वह सेटेलाइट से भी दिखे. दो करोड़ लोग इसमें शामिल होंगे.

इसे भी पढ़े -

Leave a Comment