You are here

हबस के भेड़िए बाबा ने लूट ली छात्रा की इज्जत ,करता था गंगाजल और फल का सेवन

दुराचार का आरोपी बाबा खाने में फल और गंगाजल का ही सेवन करता है

अलवर/ बिलासपुर.डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत सिंह के बाद अब अलवर के कालाकुआं स्थित मधुसूदन आश्रम दिव्य धाम के फलाहारी कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य के खिलाफ दुष्कर्म का मामला सामने आया है.एक छात्रा ने इस फलाहारी बाबा के कुकर्मो के खिलाफ आवाज उठाते हुए दुष्कर्म के प्रयास का मामला बिलासपुर में दर्ज कराया है. 21 वर्षीय छात्रा जयपुर में लॉ से संबंधित कोर्स कर रही है,जिसे जुलाई 2017 में कॉलेज से 3000 रुपए छात्रवृत्ति मिली थी. बाबा ने ही उसे इन्टर्नशिप के लिए सिफारिश की थी. इस पर उसके परिजनों ने छात्रवृत्ति की राशि फलाहारी बाबा के आश्रम में चढ़ाने के लिए कहा था उक्त राशि छात्रा आश्रम में चढाने हेतु पहुची थी ,जब वह बाबा के दुराचार की शिकार हुई .

मंदिर के लोगो का कहना है कि उक्त दुराचार का आरोपी बाबा खाने में फल और गंगाजल का ही सेवन करता है , दो दशक पहले इस बाबा ने अलवर को अपने धर्म प्रचार का केंद्र बनाया था जिसके देश के कई राज्यों में शिष्यो का साम्राज्य स्थापित है. देश के नामचीन बाबाओ में इसकी अच्छी पैठ है .बताया जाता है कि आशाराम ,राम रहीम की भान्ति इस बाबा के भी कई मुख्यमंत्री और भाजपा नेताओं के साथ गहरे सम्बन्ध है . बाबा ने मंदिर के सामने ही वेद विद्यालय भी खुलवाया है,जिसमे बच्चे गुरुकुल परंपरा से वेद अध्ययन करते हैं.

छत्तीसगढ़ के डीजीपी की पहल पर बिलासपुर पुलिस बुधवार को मामले की डायरी लेकर अलवर आई. मामले की डायरी अलवर पहुंचने के बाद के बाद अरावली विहार पुलिस समेत पुलिस के आला अफसर हरकत में आए वहीं फलाहारी महाराज को स्वास्थ्य खराब होने के कारण बुधवार शाम को ही शहर के एक निजी अस्पताल स्थित आईसीयू में भर्ती कराया गया था .जहा डाक्टरों ने उसे अब स्वस्थ होने की घोषणा कर दिया है .

सनद रहे कि अलवर के कालाकुआं के समीप स्थित मधुसूदन आश्रम में गत 7 अगस्त को बिलासपुर की एक युवती आई. युवती के परिवार से बाबा के पारिवारिक संबंध थे. यहां बाबा ने उसे शाम को आश्रम के ही बेसमेंट में बने कमरे में ठहराया.युवती को उसी दिन शाम को लौटना था, लेकिन बाबा ने उसे अगले दिन जाने की कहकर रोक लिया. देर शाम आश्रम में मौजूद सभी लोगों को बाबा ने आरती में शामिल होने भेज दिया और खुद युवती के कमरे में आ गया और भीतर से कुंडी बंद कर ली। इसके बाद युवती से छेड़छाड़ शुरू कर दिया विरोध करने पर धमकी भी दी साथ ही बड़े-बड़े सपने भी दिखाए और जबरदस्ती अपने यौन पिपाशा को शांत करने हेतु मुह काला किया . अचानक दुष्कर्म की शिकार हुई इस घटना से युवती घबरा गई. इसी दौरान बाबा के एक शिष्य ने दरवाजा खटखटाया. बाबा ने उसे किसी को नहीं बताने की धमकी देकर दरवाजा खोला. इस दौरान मौके का फायदा उठा वह दूसरे कमरे में आ गई.अगले दिन बाबा ने उसे स्टेशन छुडवाया. बाबा की धमकी से डरकर युवती ने शिकायत थाने में दर्ज नहीं कराई थी.

गुरमीत राम रहीम ब को दुष्कर्म के मामले सजा होने से युवती में साहस आया और वह अपने घर बिलासपुर पहुंच घटना की जानकारी परिजनों को देते हुए शिकायत महिला थाने में दर्ज कराई थी.पुलिस ने आरोपित बाबा के खिलाफ जीरो नम्बर में एफआईआर दर्ज कर केस डायरी अलवर भेज दिया था .जिसके बाद इस दुराचारी बाबा का भंडाफोड़ हुआ .

 

इसे भी पढ़े –

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -