You are here

उन्नाव:सीडीओ ने किया बीघापुर ब्लॉक का निरीक्षण, मिली खामियां,लगाई फटकार

बीघापुर,उन्नाव। मुख्य विकास अधिकारी संजीव सिंह ने शुक्रवार को सायं लगभग 3 बजे बीघापुर ब्लाक कार्यालय पहुँच कर ग्राम सभाओं में हो रहे विकास कार्यों के अभिलेखों की जांच पड़ताल की.





जांच में अभिलेखों के पूर्ण न होने से सीडीओ के तेवर गर्म हो गए.ब्लाक के अन्तर्गत प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत बन रहे आवासों में से किसी भी ग्राम सभा में कोई भी आवास समय से न पूर्ण होने व उनके मस्टरोल ग्राम विकास अधिकारियों व रोजगार सेवकों द्वारा समय से न पूर्ण किये जाने से सीडीओ ने जमकर फटकार लगाई और दो दिन का समय दिया कि कार्य को पूर्ण करें अन्यथा सिकन्दरपुर सरोसी के जैसे ही कार्यवाही करूंगा. विकास खण्ड में चिन्हित तालाबों को अभी तक नहीं खोदा गया है,जिस पर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जिस महीने कार्य नहीं होगा. उस महीने का रोजगार सेवकों का मानदेय रोक दिया जाएगा वहीं जांच कर रहे अभिलेखों में किसी पर भी मुहर , हस्ताक्षर आदि नहीं मिले ,जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि हर कागज पर दिनांक के सहित हस्ताक्षर मुहर हो जाने चाहिए .स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत बनने वाले शौचालयों के विषय में जब सीडीओ ने वीडीओ से पूछा तो प्रकाश चन्द्र पूरी बात नहीं बता पाए और कहा कि जिस दिन इस सम्बन्ध में जानकारी दी गई थी उस दिन मैं नहीं आया था.तब सीडीओ ने पूछा कि क्या उस दिन छुट्टी थी? या आप छुट्टी पर थे.तो वे चुप हो गए और बगलें झांकने लगे.वहीं ग्राम प्रधानों अरुण सिंह, सीमा सिंह, सुरेन्द्र सिंह, नरेन्द्र, प्रियंका सिंह आदि ने ब्लाक के प्रधान लिपिक सुनील कुमार शुक्ला पर आरोप लगाते हुए सीडीओ को प्रार्थना पत्र दिया कि ब्लाक में सबसे भ्रश्ट कर्मचारी है ,जो हर कार्य के पैसे लेता है न देने पर फाइलें पेण्डिग में डाल के रखता है .जिससे समय से विकास कार्य पूरे नहीं हो पाते हैं.



जांच के दौरान एसडीएम बीघापुर प्रदीप सिंह, बीडीओ सुशील कुमार सिंह ,डीसी मनरेगा, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि अजीत सिंह बाबी सहित कई ग्राम प्रधान भी उपस्थित रहे.

रिपोर्ट:डॉ.मान सिंह

खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -