You are here

उन्नाव : शहीद के गांव की रोड हुई खस्ताहाल

उन्नाव.उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री जहाँ लखनऊ आगरा एक्सप्रेस के निर्माण को अपनी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धियों में शुमार कर रहे है.
वही जनपद उन्नाव के अचलगंज थाना क्षेत्र के कोरारी कला , एवं कोरारी खुर्द की और जाने वाली खस्ता हाल सी सी रोड ने ग्रामीण और व्यापारियों को परेशान कर दिया है. जिससे आयेदिन दुर्घटनाये की स्थति बनी रहती है.

आपको बताते चले की तकरीबन 7 वर्ष पूर्व छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में हुए अमर शहीद सुशील कुमार का गांव कोरारी खुर्द है , जो उन्नाव रायबरेली राष्ट्रीय राजमार्ग से 3 किमी की दूरी पर स्थित है ,जहाँ गांव की ओर जाने वाली रास्ता इतनी खस्ताहाल है ,जहाँ मुर्दे भी यात्रा न करने की सोचते होंगे .

इसी मार्ग में करीब एक दर्जन सरकारी व गैर सरकारी विदयालय है ,जहाँ हजारो की संख्या में बच्चे पड़ने के लिए विद्यालय जाते है .इसी मार्ग से सबसे ज्यादा परेशानी महिला शिक्षको को होती है जो शहर क्षेत्र से आती है . जो आये दिन इन्ही मार्गो में गिरकर चुहटिल हुआ करती है, एवं समय से विद्यालय न जाने पर अधिकारियों की खरी खोटी भी सुननी पड़ती है , बड़े -बड़े गड्ढे और जलभराव हर समय किसी न किसी अनहोनी का संकेत दिए रहते है , जिससे राहगीर आयेदिन इन्ही गड्ढो में गिरकर चुह टिल हुआ करते है, कोरारी ग्राम सभा में काफी मात्रा में सब्जियों का निर्यात भी कानपुर एवं निकटम जिलो में होता है जिससे यहाँ व्यापारियों का आना जाना लगा रहता है. मंडी यहाँ के कोरारी रेलवे स्टेशन के निकट लगती है.

बिंदुवार जनसमस्याए.

  • 3 किलोमीटर का गड्ढे और जलभराव से युक्त मार्ग
  • नक्सली हमले में शहीद सुशील कुमार का पैतृक गांव है कोरारी खुर्द
  • खस्ताहाल मार्ग से आयेदिन हुआ करती है मार्ग दुर्घटनाये
  • जन सुविधाओं से उपेक्षित शहीद का गांव

नक्सली हमले में अमर शहीद सुशील कुमार के गांव में खस्ताहाल सड़क मार्ग ने यह जरूर बता दिया है कि विकास सिर्फ कागजो में हुआ करता है .शहीद की मौत के बाद इस मार्ग की मरम्मत की बात कही गयी थी जो की फाइलों में दबकर रह गयी है .

वही इसी मार्ग से जाने वाली सरकारी विद्यालायो की शिक्षका कुसुमा देवी और रीना शुक्ला आदि  ने बताया कि वह शहरी क्षेत्रों से अपने -अपने दुपहिया वाहनों से विद्यालायो की और जाती है परंतु रास्ते में गड्डा होने की वजह से उन्हें पैदल ही विद्यालायो की और जाना पड़ता है जिससे उनको अतिरिक्त समय बर्बाद करना पड़ता है . इस जजर्र मार्ग की खराब दशा होने के कारण सवारी  वाहन का आवागमन  भी नहीं  है जिससे और भी समस्या बढ़ जाती है.

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनावी समर में आगरा एक्सप्रेस का गुड़गान करने नही थकते वही जनपद उन्नाव के कोरारी ग्राम सभा की ये सड़क काफी तक यूपी सरकार के खोखले विकास के दावो की पोल खोल रही  है.

रिपोर्ट:योगेन्द गौतम

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और जी प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -