You are here

नोएडा बना नक्सलीयों का गढ़ ,पकड़े गए 9 खूंखार नक्सली

नोएडा का हिंडन विहार नक्सलियों का नया ठिकाना बन रहा है। यह बात पूरी तरह से आतंकरोधी दस्ता (एटीएस) भांप चुका था। तभी एक माह से लगातार हिंडन अपार्टमेंट फ्लैट नंबर 102 की प्रत्येक गतिविधियों पर पैनी नजर रखें था।

यह चर्चा कार्रवाई के तुरंत बाद पूरे हिंडन बिहार शुरू हो गई। सूत्रों के मुताबिक हिंडन विहार में एक कंपनी के दूध बूथ पर प्रतिदिन रात 11 बजे चार से पांच लोग आते। बूथ बंद होने के समय भारी मात्र में सामान की खरीदारी करते|खरीदारी के दौरान बूथ संचालक से फ्लैट और आस-पास की गतिविधियों की संपूर्ण जानकारी हासिल करते और सामान लेकर चले जाते। यह क्रम पिछले एक माह से लगातार जारी रखा हुआ था। इसकी चर्चा भी आस पड़ोस में होने लगी थी। बूथ संचालक भी प्रतिदिन बातचीत करने वालों की नीयत को भांप चुका था और फ्लैट में चलने वाली गतिविधियों को संदिग्ध मानने लगा था। बताया जाता है कि आतंकरोधी दस्ता ने बूथ संचालक की कुछ सटीक जानकारी के बाद शनिवार की देर शाम कार्रवाई को सफल अंजाम दिया है।गौरतलब है कि यूपी एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्कवायड) ने शनिवार रात सेक्टर 49 स्थित ¨हडन विहार के एक फ्लैट में छिपे छह नक्सलियों को गिरफ्तार कर दिल्ली-एनसीआर में सिलसिलेवार अपराधिक घटनाओं की साजिश को नाकाम कर दिया। नक्सलियों के पास से 6 पिस्टल, 50 कारतूस, 3 कार, 13 मोबाइल, 45 जिलेटिन छड़ें, 125 डेटोनेटर और 2 लैपटॉप बरामद किए गए हैं।
शनिवार रात 8:30 बजे नोएडा के सेक्टर-49 के हिंडन विहार में उत्तर प्रदेश के आतंकरोधी दस्ते (एटीएस) के पहुंचने से कॉलोनी में हलचल पैदा हो गई। कई गाड़ियों में पहुंचे एटीएस के जवानों ने मुखबिर की निशानदेही पर सीधे बिल्डिंग बी-48 के फ्लैट संख्या 102 पर धावा बोला और छह नक्सलियों को दबोच लिया। तब तक स्थानीय लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई। छापा मारने गए दल में 25 जवान थे।

एटीएस का यह दल छह नक्सलियों और उनसे बरामद दो पीठ पर टांगने वाले और एक बड़े बैग में भरे असलहा के साथ कुछ ही देर में हिंडन विहार से रवाना हो गया। इस दौरान युवाओं ने भारत माता की जय और वंदेमातरम के नारे भी लगाए।

जैसे ही इलाके में एटीएस की हलचल बढ़ी लोगों की भीड़ ऑपरेशन वाली बिल्डिंग बी-48 की तरफ बढ़ने लगी। ऑपरेशन के दौरान क्रॉस फायरिंग की आशंका के चलते एटीएस दल स्थानीय लोगों से दूर ही रहने का आग्रह कर रहा था। जब लोग नहीं माने तो कुछ जवानों ने मामूली बल प्रयोग भी किया।

उन्होंने ऑपरेशन वाली गली और कॉलोनी के मेन गेट को लगभग सील कर दिया था और लोगों की आवाजाही बंद कर दी थी। मुखबिर के साथ बिल्डिंग में घुसा एटीएस दल महज 15 मिनट में सभी चार नक्सलियों को गिरफ्तार कर बाहर निकल आया था।

इसके बाद दो नक्सलियों को हिंडन विहार के मेन रोड पर सफेद कार (यूपी 14 सीपी 1726) से दबोच लिया। सभी को गिरफ्तार कर सबसे पहले एटीएस के कुछ जवान दो गाड़ियों में लेकर रवाना हो गए। बाकी बचे जवानों ने अगले 20 मिनट घटनास्थल और उसके आसपास के इलाके में छानबीन की।

इस दौरान दल के चीफ ने बताया कि कार्रवाई निशानदेही पर की गई है। पिछले कुछ समय से इन छह नक्सलियों की जांच पड़ताल की जा रही थी। शनिवार रात को उन्हें दबोचने के लिए कार्रवाई को अंजाम दिया गया। तकरीबन 20-25 मिनट बाद जब लोगों को लगा कि एटीएस का दल चला गया है और सब कुछ सामान्य व पहले जैसा हो गया है तभी एटीएस का दूसरा दल फिर से इलाके में पहुंच गया।

इस बार दल में 6 लोग थे। जब तक लोग कुछ समय पाते यह दल सीधे बिल्डिंग में घुसा और फ्लैट की ओर बढ़ गया। यह दल करीब एक घंटा फ्लैट की सघन तलाशी लेकर और नक्सलियों से जुड़ा सारा सामान लेकर फ्लैट पर ताला जड़कर चला गया। दोनों दलों का यह ऑपरेशन रात 8:30 बजे शुरू होकर रात 10:40 बजे खत्म हुआ।

बिल्डिंग बी-48 के गार्ड ने बताया कि पकड़े गए नक्सली पिछले सात महीने से फ्लैट संख्या 102 में रह रहे थे। नक्सलियों ने एक बार सोसायटी के एक कर्मी से कहा था कि बिना हमें पूर्व सूचना दिए फ्लैट की घंटी मत बजाया करिये, नहीं तो किसी दिन कुछ गड़बड़ हो जाएगी।

इसके बावजूद न तो उस कर्मी के और न ही बिल्डिंग में रहने वाले अन्य लोगों के कान खड़े हुए। अगर ऐसा तो ये लोग कई महीने पहले ही पुलिस की गिरफ्त में होते।
जानें यह कहानी

जगह: नोएडा सेक्टर 49, हिंडन विहार, बिल्डिंग संख्या बी-48, फ्लोर सेकेंड, फ्लैट संख्या 102।

पहला ऑपरेशन : शनिवार रात 8:30 बजे से रात 9:00 तक। पकड़े गए नक्सली 6, असलह के बरामद बैग 3, ऑपरेशन में शामिल कमांडो 25, बिल्डिंग संख्या बी-48।

दूसरा ऑपरेशन: रात 9:45 बजे से देर रात 10:40 बजे तक। कमांडो की संख्या 6-8, फ्लैट में दोबारा तलाशी ली गई, कई बैग बरामद किए गए।

इसे भी पढ़े -