You are here

BHU : कमिश्नर की रिपोर्ट में विश्वविद्यालय प्रशासन दोषी ,सोसल मीडिया पर उठ रहा VC को लेकर सवाल

छात्राओ की फ़रियाद ,भाजपा का नारा हो रहा तार -तार

लखनऊ . बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज के मामले में बनारस के कमिश्नर नितिन गोकर्ण ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है. बताया जा रहा है कि इस रिपोर्ट में उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को लापरवाही का दोषी ठहराया है. कमिश्नर ने जांच के दौरान वाइस चांसलर और पीड़ित लड़की समेत 12 लोगों के बयान लिए है . रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने मामले को गलत तरीके से हैंडल किया और वक्त रहते इसका हल नहीं निकाला. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अगर वक्त रहते इस मामले को सुलझा लिया गया होता तो इतना बड़ा विवाद खड़ा नहीं होता. रिपोर्ट के अनुसार इस पूरे मामले में सबसे बड़ा दोष प्रशासन का ही है, वह चाहते तो यह मामला आराम से निपट सकता था.

बीएचयू में छात्राओं से बदसलूकी और फिर विरोध करने पर लाठीचार्ज के मामले में सवालों से घिरे वीसी त्रिपाठी अपने गैर-जिम्मेदाराना बयानों को लेकर सवालों में हैं. NDTV इंडिया के कार्यक्रम ‘प्राइम टाइम’ में रवीश कुमार से बातचीत में बीएचयू के वीसी त्रिपाठी ने छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में बेतुकी दलील दी. वीसी ने कहा कि छेड़खानी सिर्फ हमारी यूनिवर्सिटी में ही नहीं, देश भर में होती है.

बरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने फेसबुक वाल पर लिखा कि “जाने क्या नाम है, वही त्रिपाठी, वह मुँह से पैदा हुआ है। मातृ शक्ति का सम्मान उसके संस्कार में ही नहीं है”



इसे भी पढ़े –

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




इसे भी पढ़े -