You are here

पंडितों ने दलितों को जमकर कूटा, देखें वीडियो

लखनऊ । भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडेय के संसदीय क्षेत्र चंदौली में सवर्ण दलितों पर कहर बनकर टूट रहे हैं। पहले भाजपा के पूर्व जिलाध्‍यक्ष ने एक दलित कार्यकर्ता की नाक तोड़ी, अब डा. पांडेय को परशुराम बताने वाले बाभनों ने एक दलित युवक को सरेआम मां-बहन करते हुए जमकर लाठियों से पीटा। दलित युवक का कसूर इतना था कि उसने अर्द्धनिर्मित लोहिया आवास में पंडीजी को शौच करने से मना कर दिया। मोदी-योगी के स्‍वच्‍छता अभियान को आगे बढ़ाना इस दलित युवक को भारी पड़ गया।

यहाँ यह कहना कहीं से गलत नहीं होगा कि चंदौली में सवर्ण जातियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। बढे भी क्यों नहीं? जब सैंया भये कोतवाल तो अब डर काहे का! यहाँ तो कोतवाल बड़ी मामूली चीज हैं, जनपद के दो बड़े दिग्गज नेता एक केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह यहां के मूल निवासी बाबूसाहब तो दूसरे चंदौली लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं। तो फिर क्यों न हो दलितों की पिटाई?

यह तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के निर्देश हैं कि प्रदेश में रामराज्य लाना है। बाघ और बकरी को एक ही घाट पर पानी पिलाना है। अपराधी को नहीं बख्शे जाने के निर्देश का पालन करते हुए पुलिस इस मामले में येनकेन प्रकारेण सुलह कराने की कोशिश में जुटी हुई थी, लेकिन जब वीडियो वायरल हो गया तो मजबूरी में पुलिस को मामला दर्ज करना पड़ा। मुकदमा दर्ज करते ही उसके कामों की इतिश्री हो चुकी है। अब कार्रवाई कितनी तेजी से होगी, यह समझना कोई राकेट साइंस नहीं है। पुलिस आरोपियों को बचाने का पूरा प्रयास कर रही है।

दरअसल, चकिया तहसील अंतर्गत शहाबगंज थानाक्षेत्र के राममाड़ो गांव स्थित अर्धनिर्मित लोहिया आवास, जिनके छत अभी तक नहीं पड़े हैं, उसमें घुसकर ब्राह्मण जाति के कुछ लोग शौच करने लगे। इसका विरोध उक्त मकान के लभर्थियों में से कुछ दलित लोगों ने किया। मना करने से आक्रोशित होकर कई पंडितों ने एक साथ दलितों पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया। दलितों की बेरहमी से पिटाई कर दी और जमकर गालियां दी।

इसी बीच किसी ने 100 डायल करके इस बात की सूचना पुलिस को दे दी। सूचना पर पहुँची पुलिस दोनों पक्षों को हिरासत में लेकर थाने लेकर गई। पुलिस ने दलितों की तरफ से मामला दर्ज करने की बजाय समझौते कराने का प्रयास करती रही। इसी बीच इस घटना का वीडियो वायरल हो जाने पर अंततः पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करना पड़ा। पुलिस क़ानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक चकिया तहसील अंतर्गत शहाबगंज थानाक्षेत्र के राममाड़ो गांव में बन रहे लोहिया आवासों का निर्माण तकनीकी जाँच के कारण रुका हुआ है। उक्त आवास लाभार्थियों के नाम आवंटित भी है। अभी उक्त आवास का छत नहीं बना है। उक्त अर्धनिर्मित आवास के पास ही दलितों ने मड़ई डाल रखा है, जहाँ वे लोग निवास करते हैं। शुक्रवार प्रातः गांव के ही एक तिवारी परिवार का कोई व्यक्ति उसी आवास के अंदर शौच के लिए चला गया। इस पर दलित विजयी राम ने आपत्ति जताई तथा शौच करने से मना कर दिया।

इसकी सूचना जैसे ही तिवारी परिवार को घर पर मिली, कई सदस्‍य मौके पर इकठ्ठा हो गए। दलित द्वारा अधूरे लोहिया आवास में शौच करने से रोकना उन्‍हें अपनी बेइज्‍जती लगी। इससे नाराज रामहृदय तिवारी, रंजय, सुनील तिवारी, धर्मेन्द्र तिवारी आदि लोग लाठी-डंडे लेकर होकर लोहिया आवास जा पहुंचे। फिर क्या था टूट पड़े विजयी राम, दीपक राम पर। पहले जमकर गालियां दी, उसके बाद उन दोनों की जानवरों की तरह पिटाई कर डाली। दलितों को बुरी तरह मारा गया। मामला थाने पहुंचा तो थानाध्यक्ष एनएन सिंह ने तत्काल कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया।

सूत्र बताते हैं कि सुलह के लिए पीड़ितों पर काफी दबाव बनाया गया। यहाँ तक कि मीडिया कर्मियों से भी देरसायं तक मुकदर्मा दर्ज करने को लेकर थानाध्यक्ष द्वारा इनकार किया जाता रहा। वह बताते रहे कि सुलह हो गया है। यही कारण था कि किसी समाचार पत्र ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। देर रात्रि जब इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों ने जब एसपी और थानाध्यक्ष से वार्ता की तो बताया गया कि शुक्रवार को ही डेढ़ बजे दिन में ही विजयी राम के तहरीर पर रामहृदय तिवारी, रिंकू तिवारी और धर्मेन्द्र तिवारी के विरुद्ध 323,504 व एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर क्यों इस बात को समाचार पत्रों के संवाददाताओं से छिपाया गया या फिर कहीं यह तो नहीं कि जब बात ऊपर के अधिकारियों के संज्ञान में गयी तो थानाध्यक्ष ने आनन-फानन में मुकदमा दर्ज कर लिया। बताते चलें की गत माह मुगलसराय में एक दलित भाजपा कार्यकर्ता की पार्टी के ही एक पूर्व जिलाध्‍यक्ष बाबूसाहब ने मारकर नाक तोड़ दी थी। अब ये दूसरी घटना है जब केंद्रीय गृहमंत्री के गृहक्षेत्र में पंडितों ने दलितों की बेरहमी से पिटाई की है।

देखे वीडियो –

श्रोत -प्रहार लाइव

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -

Leave a Comment