You are here

गुजरात चुनाव : बंदरों ने ‘शेर’ को मारा थप्पड़ ,नतीजे तानाशाही शासन में यकीन रखने वालों के लिए खतरे की घंटी है !

नई दिल्ली .गुजरात चुनाव में किसी तरह भाजपा के चुनावी परीक्षा पास करने की सफलता पर बहुत अच्छा नम्बर दिखाने का ड्रामा कर रही भाजपा पर सहयोगी शिवसेना ने “सामना ” में एक सम्पादकीय के जरिए तंज कसा है .

शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के सम्पादकीय के जरिए सहयोगी भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि गुजरात मॉडल हिल गया है और राज्य के चुनावी नतीजे तानाशाही शासन में यकीन रखने वालों के लिए खतरे की घंटी हैं. संपादकीय में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को ‘बंदर’ कहकर उनका मजाक उड़ाया गया, लेकिन इन बंदरों ने शेर को तमाचा जड़ दिया. गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक दिन बाद शिवसेना ने यह हमला किया है.सनद रहे भाजपा को इस बार 99 सीट मिली जबकि 2012 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को 115 सीट मिली थी.

कांग्रेस को पिछली बार 61 सीट मिली थी जबकि इस बार 77 सीटें हासिल कर पार्टी ने अपने प्रदर्शन में सुधार किया. शिवसेना ने कहा कि भाजपा किसी तरह चुनावी परीक्षा पास करने में सफल हुई है, लेकिन दिखा ऐसे रही है जैसे उसे बहुत अच्छे नंबर मिले हों. संपादकीय में कहा गया कि भाजपा ने गुजरात और हिमाचल में जीत जरूर हासिल किया , लेकिन कांग्रेस भी हारी नहीं है. शिवसेना ने कहा कि भाजपा के ‘‘कांग्रेस मुक्त भारत का सपना पूरा नहीं हो सका’’. पार्टी ने कहा कि गुजरात के चुनावी नतीजे तानाशाही शासन में यकीन रखने वालों के लिए खतरे की घंटी है.

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -

Leave a Comment