You are here

गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का गुंडा ठाकुर सत्यनारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम,राज्यपाल राम नाइक का संरक्षण ?


अभिषेक पटेल

लखनऊ .अगर किसी को उच्च शिखर पर शोहरत ,पैसा और गुंडा गर्दी करनी हो तो गेरुआ बस्त्र धारण कर धर्म और राष्ट्रवाद का तड़का लगाकर शीघ्र ही मनचाही मुकाम हासिल कर सकता है .धर्म के नाम पर धंधा चला रहे तमाम धर्म के ठेकेदार बेनकाब हो चुके है ,जिन पर हत्या ,अपहरण और बलात्कार जैसे संगीन आरोप लगे है परन्तु धर्म के नाम पर हमेशा ठगी का शिकार हो रही जनता इन ढोगी बाबाओ को माल पूआ खिलाने में तनिक भी परहेज नहीं करती और अक्सर खूब सूरत नवयुवतीय इन बाबाओ के हबस का शिकार हो जाती है,बिभिन मीडिया रिपोर्टो में इन ढोगी बाबाओ के रास लीला का समय समय पर भंडाफोड़ होता रहा है.


बजरंग दल के दर्जनों हाथो में लहरा रहे थे असलहे ,पुलिसिया तंत्र तमाशाबीन
.ताजा मामला उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से है, जहा पर योग के बहाने सरकारी जमीनों सहित गंगा की गोद को एक तथाकथित योगी ठाकुर सत्य नारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम द्वरा कब्जाया गया है ,ऊचे रसूख के कारण इस भगवाधारी तथाकथित गुंडे योगी सत्यम का शासन - प्रशासन कुछ नहीं बिगाड़ पा रहा है किन्तु अपनी जान जोखिम में डाल एक समाजसेवी अधिवक्ता सुनील चौधरी शासन –प्रशासन से लगायत न्यायालय की चौखट पर अपनी चप्पले आवश्य घिस रहे रहे है,जिन्हें इस तथाकथित गुंडे ठाकुर सत्य नारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम से लगातार अपनी जान का भय बना हुआ है .उनका कहना है कि यह योगी योग क्रिया के साथ –साथ गुंडा गर्दी में संलग्न है, जिसकी अपराध जगत व शासन में उच्च पदों पर विराजमान लोगो से घनिष्ठता है, जिस कारण वह किसी भी वक्त मेरे साथ अप्रिय घटना को अंजाम दिलवा सकता है .

तथाकथित गौरक्षक गुंडों ने सरकारी अधिकारियों समेत गाय से लदे ट्रक ड्राइवरो को लहुलुहान किया
बताया जाता है कि धर्म और योग के सहारे अपनी दूकान देश व विदेश में चमकाने में माहिर ठाकुर सत्य नारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम क्रिया योग अनुसंधान संस्थान का अध्यक्ष है ,जो कि अपनी ऊची पहुच और उच्च पदस्थ संरक्षणदाताओ के बलबूते सरकारी जमीनों ,मंदिरों और गंगा की जमीनों को कब्ज़ा तो किया ही अपनी धाक ज़माने हेतु लुट ,अपहरण ,दंगा और हमला जैसे गंभीर अपराधो को अंजाम देने के मुकदमे दर्ज है .


मनुवादी मीडिया में भीम आर्मी एक आतंकी खलनायक
ठाकुर सत्य नारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम ने इलाहाबाद क्षेत्र में अवैध कब्ज़ा और विरोधियो को सबक सिखाने हेतु अपना आपराधिक इतिहास को भी मजबूत किया, जिस कारण इस योगी पर लगभग दो दर्जन मुकदमे दर्ज होने के बावजूद इसका साम्राज्य महान ढोगी संत आसाराम बापू की भांति दिन रात फल फूल रहा है .

पूजा पाठ के बहाने जिस्म नोच रहा था ढोंगी बाबा ,छात्रा ने बना दिया नपुंशक
योगी सत्यम सन 1997 से लगातार अपराध को अंजाम देते हुए जरायम की दुनिया में अपना स्थान बना रहा है .इलाहबाद के सराय इनायत थाने में इस योगी के बिरुद्ध पहला मुकदमा दर्ज हुआ ,दर्ज मुकदमा अपराध संख्या 408/97 में इसके बिरुद्ध धमकी ,मारपीट और नुकशान पहुचाने के तहत आईपीसी की धारा ५०४/५०६/४२७ दर्ज हुआ इस मुकदमे में ,ऊची पहुच के नाजायज फायदे से योगी कोई फर्क नही दिखाई पड़ा जिस कारण इस योगी का दिमाग ख़राब हो गया और फिर लगातार यह योगी अपराध को अंजाम देता रहा .उसी बीच इलाहाबाद बिकास प्राधिकरण के सचिव द्वरा सरकारी भूमि पर कब्जे के कारण इस योगी पर झूसी थाने में अपराध संख्या १७३९/९७ धारा २६ व २८ नगर नियोजन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करवाया .
सन ९९ में योगी सत्यम पर सराय इनायत थाने में ही . मुकदमा अपराध संख्या १५८/९९ के तहत जुलुस को उकसाने ,मारपीट करने व नुकशान पहुचाने के आरोप पर धारा ११७/३२३/४२७ आईपीसी व मुकदमा अपराध संख्या ३१ /९९ के तहत विधिविरुद्ध जमीन का परिवर्तन ,धर्म को हानि पहुचाने का मुकदमा दर्ज हुआ

गरीब कुर्मी के बेटे ने पास किया IAS की परीक्षा ,पिता संग बेचते थे खैनी



सन २००० में मुकदमा अपराध संख्या ३९/२००० के तहत दंगा ,मारपीट ,अवरोध उत्पन्नकरने ,नुकशान पहुचाने , घर अथवा विधालय में चोरी करने, गॄह-अतिचार,धमकी देने के अपराध में सराय इनायत थाने में ही धारा १४७/१४८/१४९/३२३/३४१/४२७/३८०/४४८/५०४/५०६ आईपीसी में मुकदमा दर्ज हुआ
सन २००१ में झूसी थाने में मुकदमा अपराध संख्या २०३/२००१ नुकसान पहुचाने हेतु धारा ४२७ आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज हुआ तो २००६ में झूसी थाने में ही सरकारी जमीन पर कब्ज़ा करने पर मुकदमा अपराध संख्या २९७०/२००६ दर्ज हुआ .

सन २००७ व ८ में झूसी थाने में मुकदमा अपराध संख्या ४०१६ /२००७ व सन ८ में मुकदमा अपराध संख्या २७२ /२००८ में सरकारी जमीन पर कब्ज़ा करने,नुकसान पहुचाने पर मुकदमा अपराध संख्या २६ व २८ नगर नियोजन अधिनियम व धारा ४४७/३/५ लोसनिअधि में मुकदमा दर्ज हुआ. .
नुकसान पहुचाने हेतु धारा ४२७ आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज हुआ तो २००६ में झूसी थाने में ही सरकारी जमीन पर कब्ज़ा करने पर मुकदमा अपराध संख्या २९७०/२००६ दर्ज हुआ .

छलावा है कर्ज माफी,इससे नहीं हल होगी किसानों की समस्या – नीतीश कुमार

इस योगी के मुकदमो की फेहरिस्त यही खत्म नहीं होती बल्कि दर्जनों अन्य मुकदमे भी दर्ज है ,सरकार से स्टाम्प चोरी के मामले भी इस योगी पर दर्ज है .
योगी सत्यम से सम्बंधित मुकदमे के सन्दर्भ में थानाध्यक्ष झूसी ने किसी भी प्रकार की जानकारी देने से इंकार कर दिया तो दूसरी ओर योगी के अधिवक्ता बिनोद कुमार सिंह परमार ने दूरभाष पर स्पस्ट रूप से कहा कि योगी के बिरुद्ध दर्ज मुकदमे समाप्त हो गये है ,सनातन धर्म की रक्षा के नाम पर पंडित जाति के बाबाओ के संरक्षण में ठाकुर योगी सत्यम को बदनाम करने का खड्यंत्र चल रहा है ,योगी के कब्जो के बावत पूर्व के आईएएस के रिपोर्टो को गलत करार देते हुए कहा कि योगी ने किसी प्रकार का कोई कब्ज़ा नहीं किया है .

कैबिनेट मंत्री ठाकुर मोती सिंह से ब्लॉक प्रमुख कंचन वर्मा को जान का खतरा !

फिरहाल इस योगी को लेकर क्षेत्र में खुली चर्चा है कि योग के नाम पर यह योगी अपना धंधा चोखा करते हुए अपनी धाक जामने हेतु अपराधो को अंजाम देने में कभी पीछे नहीं रहता ,गंगा की जमीनों पर कब्जे को लेकर लोगो में चर्चा है कि योगी ने गंगा की जमीनों पर कब्ज़ा कर उक्त जमीनों के साथ छेड़ छाड़ कर मानो गंगा की जमीनों का बलात्कार कर रहा है .


बताया तो यह भी जा रहा है कि योगी द्वरा यह प्रचार प्रसार किया जाता है कि समाजवादी सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मेरा शिष्य हुआ करता था किन्तु वर्तमान की भाजपा सरकार में राज्यपाल राम नाइक का सहयोग मेरे साथ है जिस कारण मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता .

फिरहाल इस योगी के प्रचार –प्रसार के दावों में दम भी दिखता है यही कारण है की अपराध और कब्जो को अंजाम देने सम्बन्धी तमाम आरोपों और दर्ज मुकदमो के बावजूद योगी सत्यम का साम्राज्य तेजी से फल फूल रहा है .


गंगा की सफाई और सुरक्षा हेतु चल रहे प्रधानमंत्री मंत्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘नमामि गंगे ‘ को यह योगी मुह चिढ़ा रहा है ,देखना होगा की सरकार इस योगी पर कोई कठोर कदम उठाती है अथवा बेरोक टोक योगी का साम्राज्य फलता फूलता रहेगा . (खबर अभी जारी ......)

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़े -

9 Thoughts to “गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का गुंडा ठाकुर सत्यनारायण सिंह उर्फ़ योगी सत्यम,राज्यपाल राम नाइक का संरक्षण ?”

  1. […] निस्तारण की कार्यवाही चल रही है. गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का ग… जिलाधिकारी ने कहा कि तत्काल […]

  2. […] गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का ग… […]

  3. […] लखनऊ. अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ व हज मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड को भंग करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सिफारिश कर दिया है. शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं .मंत्री की सिफारिश के बाद योगी सरकार ने बोर्ड भंग किए जाने की प्रक्रिया को अंजाम देने शुरू कर दिया है.सरकार ने शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड के सीबीआइ जांच हेतु केंद्र से सिफारिश भी कर दी है. गेरुआ वस्त्र में छिपा हिन्दू धर्म का ग… […]

Leave a Comment