You are here

JDU उत्तर प्रदेश के खेवनहार बनेंगे शिवपाल ,मुलायम -अखिलेश को देंगे गद्दारी का झटका

लखनऊ .उत्तर प्रदेश की राजनीति में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव व सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को झटका देने की तैयारी को जन्म दिया जा रहा है ,समाजवादी पार्टी के कट्टर समर्थक व पूर्व सपा सुप्रीमो के खासमखास सिपहसालार रहे समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता ही मुलायम सिंह यादव के हनुमान शिवपाल सिंह के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के वोट बैंक पर डाका डाल सपा को कमजोर करने व मुलायम द्वारा की गई गद्दारी का बदला लेने की कार्ययोजना पर मंथन कर रहे है.

भाई मुलायम सिंह यादव से गच्‍चा खाने के बाद अब शिवपाल सिंह यादव अब चुन-चुनकर कदम रख रहे हैं.सूत्र बताते हैं कि अब बहुत सोच समझकर शिवपाल जदयू में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं. शिवपाल की नीतीश कुमार से अच्‍छे संबंध रहे हैं. शिवपाल पहले मुलायम सिंह यादव के साथ मिलकर नया दल बनाना चाह रहे थे, लेकिन मुलायम के धोखेबाजी के बाद उन्‍होंने यह फैसला त्‍याग दिया है.

बताया जा रहा है कि शिवपाल समर्थको की योजना है कि समाजवादी पार्टी के वोट बैंक पर चोट कर ही मुलायम और अखिलेश से गद्दारी का बदला लिया जा सकता है ,इसी सोच के तहत पिछड़े वर्ग के यादव और कुर्मी को एक जुट कर एक दल के बैनर तले लाने की रणनीति को जन्म दिया जा रहा है .शिवपाल समर्थको का मानना है कि यादव वोट बैंक पर चोट कर जहा सपा को झटका दिया जा सकता है वही कुर्मी -यादव -मुसलमान गठजोड़ के सहारे उत्तर प्रदेश की राजनीति में मुकाम हासिल करना भी आसान है .शिवपाल समर्थक अपने नेता शिवपाल की योजना के अनुसार जनता दल यू में शामिल होने का फैसला कर चुके है ,इसके पीछे शिवपाल की सोची समझी रणनीति काम कर रही है ,उनका मानना है कि उत्तर प्रदेश की राजनीति में नीतीश कुमार के पास कोई दमदार नेता नहीं है और दूसरी तरफ शरद यादव नीतीश कुमार के विरोध में उतर आए है ,ऐसे में जड़यू में महत्व मिलने के साथ ही उत्तर प्रदेश में नीतीश कुमार की बेदाग़ छबी का फायदा उठाया जा सकता है,उत्तर प्रदेश का कुर्मी वोट बैंक भी नीतीश के नाम पर एक जुट हो सकता है.

जदयू में शामिल होने का तात्कालिक फायदा भी शिवपाल को नजर आ रहा है कि नीतीश कुमार के जदयू की एनडीए में वापसी हो चुकी है . नीतीश की इच्छा अनुसार वह जदयू के कोटे से वह यूपी की भाजपा सरकार में मंत्री भी बनाए जा सकते हैं.फिरहाल इस मुद्दे पर दोनों को अपना अपना फायदा दिख रह है ,शिवपाल समर्थको को जदयू में शामिल होने की आधिकारिक घोषणा का इन्तजार है .

इसे भी पढ़े –

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)




loading…


इसे भी पढ़े -