You are here

महिलाओ ने PM से पूछा : मै भारत की नारी या कुतिया,जबाब दो

लखनऊ .बेटी पढाओ -बेटी बचाओ सहित महिला के सम्मान में भाजपा मैदान में नारे के साथ विधानसभा चुनाव में भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओ ने घर घर जाकर महिलाओ के मान ,सम्मान ,स्वाभिमान की सुरक्षा हेतु भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील किया था .भाजपा के नारे व महिला कार्यकर्ताओं की मेहनत के बूते आधी आबादी का भरपूर सहयोग भाजपा को मिला ,जिस कारण भाजपा आज सत्ता पर काबिज है .

उत्तर प्रदेश की सत्ता पर कब्ज़ा के बाद से ही मानो भाजपा ने अपने उक्त नारों को तिलांजलि सा दे दिया है जिस कारण प्रदेश में महिलाओ के मान ,सम्मान ,स्वाभिमान की सुरक्षा के बदले बहसियो द्वारा हबस का शिकार होना पड़ रहा है .भाजपा की महिला कार्यकर्ता भी अपने को अब ठगा महसूस कर रही है ,सरकार के मंत्रियो द्वारा महिला कार्यकर्ताओ को खुले आम बेइज्जत तक किया जा रहा है .

भाजपा महिला सम्मान की बात तो बड़े बड़े मंचो से करती है किन्तु उसके भाषण देने वाले नेता मंचो से उतरने के बाद कितना अमल करते है वह भाजपा प्रवक्ता प्रेम शुक्ला की बातो से लगाया जा सकता है .महिलाओ के स्वाभिमान की बात करने वाले भाजपा के इस प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने किस भाषा का प्रयोग किया है .देखे …

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र बनारस से अब महिलाओ ने महिला के सम्मान में भाजपा मैदान में नारों के साथ बड़े बड़े मंचो पर महिलाओ के सम्मान की वकालत करने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सवाल खड़ा किया है कि “मै भारत की नारी या कुतिया ” .इस स्लोगन के पोस्टर अब बनारस के पुलिस चौकी पर देखने को मिल रहे है .दबी जुबान से महिलाओ का कहना है कि वक्त आ गया है हमें अपनी इज्जत की हिफाजत खुद कर महिला हितो की बात करने वाले बहरूपियो को बेन्काब  करने का,यह तो अभी चिंगारी है .


फिरहाल सोसल मीडिया पर वायरल हुए इस पोस्टर में साफ़ दिख रहा है कि स्थानीय पुलिस PM मोदी से जबाब माग  रहे पोस्टर को उतारा जा रहा है . सनद रहे एक दिन पूर्व ही बिपक्षी दलों द्वारा PM मोदी के विरुद्ध प्रदर्शन भी  किया गया है .जिसमे प्रदर्शनकारियों ने कहा कि  “काशी परिवर्तन चाहती है और जब काशी परिवर्तन लेती है तब पूरा देश परिवर्तन चाहता है”पूरा देश झूठ और जुमलों से आजादी चाहता है. पूरा देश माँ गंगा को ठगने वाले लोग से बचना चाहता है.

इसे भी पढ़े –

इसे भी पढ़े -

Leave a Comment