You are here

नोट बंदी पर मुखर हो सकते है नीतीश कुमार





पटना.जनता दल यू के अध्यक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मन नोट बंदी के मुद्दे पर बदल सकता है,नीतीश कुमार मुखर होकर नोट बंदी बिरुद्ध आवाज उठा सकते है .
उक्त दावा राजद मुखिया लालू प्रसाद ने एक चैनल से बातचीत करते हुए किया .लालू ने कहा की नोट बंदी के बाद से हुई जनता की दिक्कतों और जनता के दबाव को देखते हुए नीतीश का भी अब मन बदल रहा है.लालू प्रसाद ने कहा कि 30 दिसंबर के बाद हालत और खराब हो जाएंगे. नोटबंदी देश की अर्थव्यस्था को बर्बाद कर देगी. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से वो बहुत दुखी हैं और नोटबंदी के खिलाफ 28 दिसंबर से धरना प्रदर्शन शुरू करेंगे.



सनद रहे इससे पहले भी लालू प्रसाद कह चुके हैं कि नोटबंदी के खिलाफ रैली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत समान विचारधारा वाले विरोधियों को एक मंच पर लाने की कोशिश करेंगे. हालांकि उन्होंने ये भी कहा था कि नीतीश मुख्यमंत्री हैं और वो उन्हें डिक्टेट नहीं कर सकते हैं.

जदयू के बिहार प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह भी दावा कर चुके हैं कि नोटंबदी के 50 दिन पूरा होने पर पार्टी इसके प्रभाव की समीझा करेगी. फिलहाल पार्टी कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया जा रहा है लेकिन नोटंबदी मन बदला या नहीं अंतिम फैसला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही करेंगे.
ददुआ हमारे पूर्वज हमारे आदर्श है -हार्दिक पटेल

इसे भी पढ़े -