You are here

किसान नेता हार्दिक पटेल को खून से तौल कर होगा सरदारवादी क्रांति का आगाज

लखनऊ .आज राष्ट्र निर्माता किसानों के नेता प्रखर राष्ट्रवादी भारत रत्न लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के 67वें परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर सैकड़ों सरदारवादीयों ने जी0पी0ओ0 चौराहा स्थित पटेल प्रतिमा पर श्रद्वा सुमन अर्पित कर भाव भिनी श्रद्वांजली अर्पित किया।

सरदारवादी विचारधारा द्वारा आयोजित सम्मलेन के संयोजक डा0 आर0एस0 पटेल ने आज पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान समय की सरकारें लौह पुरूष सरदार पटेल के नाम लेकर राजनिति तो करते है, लेकिन काम और योजनायें सिर्फ पंडित दीनदयाल के नाम पर चलाते है। आजादी को 70 साल बीत गये, अबतक सरदार पटेल के सपनां के भारत पर काम नहीं हुआ। देश व प्रदेश के किसान कमेरा समाज उपेक्षित एवं वंचित हो रहा है। अब तक की जो भी सरकारें आयी पुजीपतियों के लिए ही काम किये। दिन प्रति दिन किसानों की हालात बद से बत्तर होती जा रही है। देश में सैकड़ों किसान रोज आत्म-हत्या कर रहे है। मौजूदा देश व प्रदेश सरकारें सिर्फ पुंजीपतियों के लिए सामंत वादीयों के इशारें पर कार्य कर रही है। आज देश व प्रदेश में पिछड़े वर्ग के नाम पर राजनीतिक संगठन व सामाजिक संगठन सरकारों की पिछलल्गु बन शोषण कर रही है। इस सभी मुद्दे पर जब देश का किसान एवं युवा समाज अपनी आवाज उठाता है तो सरकारें युवा के आन्दोलन को कुचलने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि आज जब एक तरफ पाटीदार, किसान युवाओं के नेता हार्दिक पटेल ने देश का सबसे बडा आन्दोलन खड़ा किया तो सरकारें हार्दिक पटेल की आवाज को दबाने का कार्य करने लगी। हार्दिक पटेल का यह आन्दोलन देश का सबसे बडा आन्दोलन है। इस आन्दोलन से प्रेरित होकर देश के किसान नौजवान जाग उठे है। हाल ही के गुजरात विधान सभा चुनाव में सिर्फ ही सिर्फ किसानो के बेटा हार्दिक पटेल पर ही सबकी निगाहें केन्द्रित रहीं इसी क्रम में उत्तर प्रदेश से किसानों से निकला एक आवाज सरदारवादी विचारधारा के रूप में उग्र हो रहा है, क्यांकि सरदार पटेल ने कहा था कि भारत को किसान उत्पादक देश बनाकर उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए लेकिन तत्कालीन व वर्तमान सामन्तवादियों के कारण ऐसा नहीं हो सका। किसान कमेरा समाज के दर्द को लेकर सरदारवादी विचारधारा के बैनर तले 31.12.2017 को सुबह 11 बजे सरदार पटेल संस्थान आलोपी बाग इलाहाबाद में आयोजित सरदारवादी किसान सम्मेलन हो रहा है। जिसमें लाखों की तादाद में प्रदेश के किसान युवा अपने हक की आवाज बुलंद करेंगे। इस कार्यक्रम में युवा किसानों के नेता हार्दिक पटेल बतौर मुख्य अतिथि सिरकत कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के युवाओं ने प्रण किया है कि हार्दिक तेरे आन्दोलन को हम ना दबने देगें, ना मिटने देंगे।सरदारवादी युवाओं ने कहा है कि हार्दिक जहॉ आपका पसीना गिरेगा वहॉ युवाओं का खून बहेगा, आपकी आवाज न दबे इसलिए दुनिया में पहली बार हम युवा अपने खून से आपको तौल कर सरदारवादी विचारधारा की आवाज को बुलंद कर सरदार पटेल के सपनो का भारत बनाने हेतु जंग का एलान करेंगे ।

सरदारवादी डा0 आर0एस0 पटेल ने कहा कि किसान समाज की रक्षा के लिए जरूरत पडी तो हम अपने खून को कुर्बान कर अपनी जान गवांने में पीछे नहीं हटेंगे। किसान, कमेरा, दलित और पिछड़े वर्ग के क्रांतिकारी साथी जो सामाजिक आन्दोलनों में संर्घष की वजह से जेलों में बंद है। सरदारवादी विचारधारा के लोग उनके लिए भी संघर्ष का बिगुल छेडेंगे।

इस प्रेस-वार्ता के मार्फत बिरांगना आवंतीबाई लोधी क्रांतिवाहिनी के राष्ट्रीय संयोजक एडवोकेट बृजलाल लोधी ने कहा कि सरदार पटेल साहब के सपनों का भारत बनाने और सामंतवादियों का प्रतिकार करने हेतु संकल्पित सरदारवादी विचारधारा को जी जीन से लोधी सामाज सहयोग करेगा।

उक्त अवसर पर सरदारवादी इन्जीनियर सतीश सचान, इन्द्रजीत पटेल, अभिषेक पटेल, डा0 जगदीश्वर पटेल, गोविन्द पटेल, सुरेश वर्मा, रामसूरत पटेल समेत सैकड़ो सरदारवादी उपस्थित रहे।

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .<a

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

(sc_adv_out = window.sc_adv_out || []).upsh({
id : “240339”,
domain : “n.ads3-adnow.com”
});

इसे भी पढ़े -

Leave a Comment