You are here

जल रहा है भारत,बढ़ रही है नफरत….… अनूप पटेल की कविता

नई दिल्ली .भाजपा शासित राजस्थान के राजसमंद में शंभूलाल रेगर नाम के एक दरिन्दे ने जिंदगी के 50 वर्ष पुरे कर चुके के मुस्लिम समाज के बुजुर्ग मोहम्मद अफरजुल की कुल्हाड़ी और तलवार से काट कर निर्मम हत्या करते हुए इस दरिन्दे ने पूरे हत्याकांड का लाइव वीडियो भी जारी किया.

इस घटना के बाद धर्म की जकड़न में मानसिक विकलांग हो चुके समाज की हकीकत की बहस का दौर चल पड़ा है. इसी मनोविकार पर सामाजिक चिंतक,पत्रकार अनूप पटेल ने चंद पंक्तियों में अपने दर्द बयां किया ,पढिए -मुसलमां को जिंदा जलाया…

एक दलित ने मुसलमां को जिंदा जलाया।
असल मे मानवता को जलाया।

शोषितों की एकता को जलाया।
कट्टरता के रहबरों को खाद-पानी दिलाया।।

ये राजस्थानी है, वो बंगाली था।
ये बहुसंख्यक है, वो अल्पसंख्यक था।
ये हिन्दू है, वो मुसलमां था।
ये दलित है, वो पसमांदा था।।

जल रहा है भारत।
बढ़ रही है नफरत।
बढ़ रहे है फासले।
मिट गई इंसानियत।।

कितने पुतले जलाओगे?
कितने धरना-प्रदर्शन करोगे?
एक काम क्यों नही करते !
इस हत्यारी विचारधारा को दफ़न क्यो नही करते??

                                                                                         ( लेखक अनूप पटेल सामाजिक विचारक हैं )

न्यूज़ अटैक हाशिए पर खड़े समाज की आवाज बनने का एक प्रयास है. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें .

न्यूज़ अटैक का पेज लाइक करें –
(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)






इसे भी पढ़े -